विराट कोहली सीरीज में तीन सौ से ज्यादा रन बनाने वाले एकलौते खिलाड़ी रहे © IANS
विराट कोहली सीरीज में तीन सौ से ज्यादा रन बनाने वाले एकलौते खिलाड़ी रहे © IANS

न्यूजीलैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज जीतने के बाद भारतीय टीम ने वनडे सीरीज पर भी 3-2 से अपना कब्जा जमाया। कल खेले गए अंतिम वनडे मुकाबले में भारत ने कीवी टीम को 190 रनों की करारी शिकस्त दी। पूरी सीरीज में भारतीय टीम ने शानदार प्रदर्शन किया और खेल के हर विभाग में न्यूजीलैंड को पीछे छोड़ा। शायद यही कारण रहा कि गेंदबाजी, बल्लेबाजी और क्षेत्ररक्षण तीनों ही विभागों में भारतीय टीम का दबदबा सीरीज में देखने को मिला। पूरी सीरीज में बल्ले से कहर मचाने वाले विराट कोहली सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी रहे तो गेंदबाजी में अमित मिश्रा टॉप पर रहे।

विराट ने इस सीरीज के 5 मैचों में 1 शतक और 2 अर्धशतक जमाते हुए सबसे ज्यादा 358 रन बनाए। इन 5 मैचों में उनका औसत 119.33 रहा। विराट ने जब भी इस सीरीज में 50 से ज्यादा का स्कोर बनाया उनकी टीम की जीत हासिल हुई। जिन दो मैचों में विराट के बल्ले से रन नहीं निकला उनमें टीम इंडिया को हार का सामना करना पड़ा। सीरीज में दूसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी न्यूजीलैंड के टॉम लेथम रहे। लेथम ने 5 मैचों में 2 अर्धशतकीय पारियां खेलते हुए 244 रन बनाए। इसके अलावा कीवी टीम के कप्तान केन विलियमसन 5 मैचों में 211 रनों के स्कोर के साथ सीरीज में तीसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ी रहे। इस सीरीज में नंबर 4 पर बल्लेबाजी करने उतरने वाले भारतीय कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने 5 मैचों में 192 रन बनाए। [Also Read: पांचवे वनडे मैच भारतीय जीत के प्रमुख कारण]

गेंदबाजी के क्षेत्र में भी भारतीय गेंदबाजों ने अपना दबदबा बनाया। 5 मैचों में कुल 15 विकेट चटकाने वाले अमित मिश्रा सीरीज के सबसे सफल गेंदबाज रहे। इस सीरीज में एकलौते पांच विकेट चटकाने वाले खिलाड़ी भी मिश्रा ही रहे, उन्होंने अंतिम वनडे मैच में 18 रन देकर 5 विकेट चटकाकर कीवी टीम को 79 के स्कोर पर समेटने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। 8 विकेटों के साथ उमेश यादव दूसरे सबसे सफल गेंदबाज रहे। उनका सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन 75 रन पर 3 विकेट रहा। न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाज टिम साउदी 7 विकेटों के साथ तीसरे सबसे सफल गेंदबाज रहे।