भारतीय क्रिकेट टीम के सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल ने न्यूजीलैंड इलेवन के खिलाफ 3 दिवसीय प्रैक्टिस मैच की दूसरी पारी में रिटायर्ड आउट होने से पहले 81 रन की पारी खेली. पहली पारी में महज एक रन बनाने वाले मयंक ने रिटायर्ड आउट होने से पहले अपनी अर्धशतकीय पारी में 10 चौके और तीन छक्के लगाए. इस पारी के दम पर मयंक का आत्मविश्वास बढ़ा होगा क्योंकि मौजूदा दौरे पर इससे पहले लिमिटेड ओवर की सीरीज में उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं रहा था.

राहुल जौहरी ने BCCI के CEO पद से दिया इस्तीफा : रिपोर्ट

इससे पहले मयंक ने मौजूदा न्यूजीलैंड दौरे पर 32, 29, 37, 24, 0, 0, 32, 3, 1, 1 का स्कोर किया था. भारत और न्यूजीलैंड के बीच 2 मैचों की सीरीज का पहला टेस्ट मैच 21 फरवरी से वेलिंग्टन में खेला जाएगा.

न्यूजीलैंड इलेवन के खिलाफ ड्रॉ हुए मैच के बाद मयंक ने कहा, ‘ यहां खेलना थोड़ा अलग था. लेकिन मैंने उन सभी को पीछे छोड़ा जो पहले मेरे साथ हुआ था. हां, प्रैक्टिस मैच की दूसरी पारी में मैंने 81 रन बनाए. मैं इसी आत्मविश्वास के साथ टेस्ट मैच में भी जाना चाहता हूं.’

NZXIvsIND Tour Match: मयंक अग्रवाल और रिषभ पंत का गरजा बल्ला, 3 दिवसीय प्रैक्टिस मैच ड्रॉ

मयंक ने बल्लेबाजी तकनीक में खामियों पर काबू पाने के लिए बैटिंग कोच विक्रम राठौड़ का सहारा लिया. बकौल मयंक, ‘ विक्रम सर और मैंने साथ बैठकर उन चीजों पर बात की जिसमें मुझे सुधार की जरूरत थी. पहली पारी में आउट होने के बाद हां हमने उसपर काम किया. मैं नेटस पर गया और ड्रील से अभ्यास किया. मैं इससे खुश हूं कि मैंने जो भी काम किया उसका परिणाम मुझे अच्छा मिला.’

‘पृथ्वी के साथ अच्छा तालमेल’

मयंक ने कहा कि पृथ्वी शॉ और उन्होंने एकसाथ बहुत क्रिकेट खेली है. बकौल मयंक, ‘हम दोनों के बीच अच्छा तालमेल है और एक-दूसरे के खेल को अच्छी तरह जानते हैं. हम दोनों एक-दूसरे से बातें करते रहते हैं और एक-दूसरे को बताते रहते हैं कि क्या करना चाहिए.’