चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Super Kings) टीम मंगलवार रात आईपीएल 2020 के चौथे मैच में राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) के खिलाफ मुकाबला हार गई.  3 बार की चैंपियन टीम उस समय हारी जब उसके कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) उस समय क्रीज पर मौजूद थे.  ऐसे में धोनी की फॉर्म को लेकर अटकलों का बाजार गर्म है.

इस बीच सुपरकिंग्स के कोच स्टीफन फ्लेमिंग (Stephen Fleming) ने धोनी का बचाव किया है. फ्लेमिंग का कहना है कि धोनी को ‘फिनिशर’ की भूमिका में आने में थोड़ा समय लगेगा जिसका हर कोई इंतजार कर रहा है.

7वें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे धोनी 

धोनी इस मैच में 7वें नंबर पर बल्लेबाजी करने उतरे और उन्होंने अपने ताकतवर शॉट लगाने से पहले क्रीज पर जमने में समय लिया.  जब तक वह आक्रामक हुए, उनके पास जरूरी रन बनाने के लिए काफी गेंद नहीं बची थी जिससे टीम 16 रन से हार गई.  धोनी 17 गेंद में 29 रन की पारी खेलकर नाबाद रहे.

धोनी ने कहा कि उनकी टीम के दो हफ्ते के पृथकवास में रहने से उनकी तैयारियों पर असर पड़ा क्योंकि उन्हें अभ्यास करने का काफी समय नहीं मिल सका.

फ्लेमिंग ने मैच के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘हमें हर साल यह सवाल मिलता है.  वह 14वें ओवर में क्रीज पर उतरे थे, जो काफी काफी अनुकूल समय है और उन्होंने इसके अनुसार बल्लेबाजी भी की.  वह काफी लंबे समय तक क्रिकेट नहीं खेलने के बाद वापसी कर रहा हैं. ’

उन्होंने कहा, ‘इसलिये, उसके सर्वश्रेष्ठ करने की उम्मीदों के लिये थोड़ा समय लगेगा.  लेकिन आप अगर मैच के अंत की ओर उसे देखो तो वह काफी अच्छा था.  फाफ डु प्लेसिस फॉर्म में थे, इसलिए हम ज्यादा दूर नहीं थे.  ईमानदारी से कहूं तो बल्लेबाजी चिंता की बात नहीं थी. ’

‘एम एस पारी के अंत में खेलने के विशेषज्ञ हैं’

कप्तान धोनी ने खुद से पहले सैम कर्रन और केदार जाधव (Kedar Jadhav) को बल्लेबाजी के लिये भेजा था.

इस कदम के बारे में न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान ने कहा, ‘एम एस पारी के अंत में खेलने के विशेषज्ञ हैं, हमेशा रहे हैं.  कर्रन हिट करने और उस समय तक हमें मैच में बनाये की कोशिश कर रहा था.  उसकी हिट करने की ताकत शानदार है, जैसा हमने देखा.’