×

4 महीने के ब्रेक के बाद IPL- भारत के घरेलू खिलाड़ियों के लिए चुनौती होगी मैच फिटनेस: Chris Morris

पिछली बार जब दुबई में IPL खेला गया था तो मैच फिटनेस एक समस्या थी. इस बार भी घरेलू खिलाड़ी पूरी तरह ब्रेक पर थे.

साउथ अफ्रीका के ऑलराउंडर खिलाड़ी क्रिस मौरिस (Chris Morris) का मानना है कि 4 महीने के ब्रेक के बाद शुरू हो रहे आईपीएल (IPL 2021) में घरेलू खिलाड़ियों को फिटनेस से जुड़ी चुनौतियों से गुजरना पड़ सकता है. राजस्थान रॉयल्स (RR) के इस स्टार ऑलराउंडर ने कहा कि इंटरनेशनल स्तर पर खेलने वाले खिलाड़ी इस गैप के दौरान भी लगातार लीग क्रिकेट या अपनी-अपनी राष्ट्रीय टीमों के लिए खेलते रहे हैं. लेकिन घरेलू खिलाड़ी ऐसा नहीं कर पाए.

उन्होंने कहा, ‘ज्यादातर विदेशी खिलाड़ी दूसरी लीग टूर्नामेंटों में भाग में ले रहे थे और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट भी खेल रहे थे. कोविड-19 (Covid 19) के कारण आईपीएल के सत्र को मई में बीच में रोकने के बाद भारतीय घरेलू खिलाड़ियों को प्रतिस्पर्धी क्रिकेट खेलना का मौका नहीं मिला.

मौरिस से जब दो चरण में आईपीएल के आयोजन की चुनौती के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘पिछली बार की तरह जब दुबई में आईपीएल खेला गया था तो मैच फिटनेस एक मुद्दा थी. इस बार भी शरीर को परिस्थितियों के मुताबिक ढालने के लिए कुछ मैच चाहिए होंगे.

मौरिस ने कहा, ‘अच्छी बात यह है कि विदेशी खिलाड़ी कुछ क्रिकेट खेल रहे हैं. मैंने साउथ अफ्रीका में सत्र पूर्व अभ्यास किया है, वजन कम करने की कोशिश कर रहा हूं. मैच फिटनेस हमेशा सबसे अच्छी तरह की फिटनेस होती है. हमें दो अभ्यास मैचों में भाग लेने का मौका मिला जिससे हमने मैदान में कुछ समय बिताया है.’

इस तेज गेंदबाजी हरफनमौला ने कहा, ‘अभ्यास की परिस्थितियां कभी भी मैच की तरह नहीं हो सकती हैं. मुझे लगता है कि मैच के दौरान कुछ खिलाड़ियों को शरीर को परिस्थितियों के मुताबिक ढालने में संघर्ष करना पड़ेगा. कोविड-19 का यह एक बुरा प्रभाव है.’

(इनपुट: आईएएनएस)

trending this week