इंडियन प्रीमियर लीग (IPL 2021) के आठवें मैच में पंजाब किंग्स (Punjab Kings) के खिलाफ चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) की जीत के नायक तेज गेंदबाज दीपक चाहर (Deepak Chahar) रहे। चाहर ने पंजाब के खिलाफ चार ओवर में 13 रन देकर चार विकेट लिए। मैच के दौरान एक समय ऐसा भी आया जब चाहर के पास एक ओवर में तीन विकेट लेने का मौका था लेकिन सीएसके के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) गेंदबाज के कहने पर डीआरएस लेने को राजी नहीं हुआ। हालांकि मैच जीतने के बाद धोनी ने अपने इस फैसले के पीछे के कारण का खुलासा किया।

मामला पंजाब की पारी के पांचवें ओवर का है जब चाहर ने दूसरी गेंद पर यूनिवर्स बॉस क्रिस गेल को नकल बॉल के जाल में पंसा कर रवींद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) की शानदार फील्डिंग के मदद से आउट किया। उसी ओवर की चौथी गेंद पर चाहर ने निकोलस पूरन को शॉर्ट लेंथ गेंद पर फाइन लेग के फील्डर शार्दुल ठाकुर (Shardul Thakur) के हाथों कैच आउट कराया।

पांचवीं गेंद पर चाहर ने अपनी इनस्विंग गेंद से शाहरुख खान को चकमा दिया और उत्साहित होकर एलबीडब्ल्यू की जोरदार अपील की। फील्ड अंपायर के इंकार करने पर चाहर ने स्ट्राइकर एंड पर खड़े अपने कप्तान की तरफ देखा और रीव्यू की मांग की लेकिन कैप्टन कूल ने डीआरएस लेने से मना कर दिया।

मैच के बाद जब धोनी से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, “मुझे लगता कि एलबीडब्ल्यू की अपील बहुत तेज थी। इसलिए मैं उससे कहा कि हम रीव्यू नहीं करेंगे। मुझे हमेशा से ये लगता है कि डीआरएस खेल में हुई बड़ी गलतियों को सुधारने के लिए है और केवल रिस्क लेने के लिए नहीं। आप रिस्क तब लेते हैं जब मैच का आखिरी ओवर हो या फिर (बल्लेबाज) बहुत अहम हो।”

भले ही धोनी ने चाहर की डीआरएस अपील को नकार दिया हो लेकिन कप्तान ने इस तेज गेंदबाज की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा, “चाहर ऐसा गेंदबाज है जो समय के साथ डेथ ओवर गेंदबाज में बदल गया है। अगर मैं अटैक करने की सोच रहा हूं और पिच पर मूवमेंट है तो मैं उससे गेंदबाजी कराउंगा क्योंकि उसे पिच से ज्यादा मदद मिलती है।”

पंजाब के खिलाफ मैच में 6 विकेट से जीत हासिल कर चेन्नई सुपर किंग्स आईपीएल 2021 की अंकतालिका में दूसरे स्थान पर आ गए हैं।