एमएस धोनी © Getty Images (File Photo)
एमएस धोनी © Getty Images (File Photo)

भारतीय टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी मैदान पर अपने शांत रवैए को लेकर बहुत प्रसिद्ध हैं और इस वजह से उन्हें गाहे बगाहे प्रशंसा भी मिलती रहती है। लेकिन पूर्व भारतीय क्रिकेटर कपिल देव ने कहा कि उन्हें धोनी का कूल होना पसंद नहीं है। उन्होंने कहा कि जब कोई नया खिलाड़ी टीम में आता है तो वह अपने कप्तान से बड़ी अपेक्षाएं रखता है और अगर कप्तान ही उससे बातचीत ना करे और उसके मैदान में खेल के दौरान प्रतिक्रिया ना दे तो वह खिलाड़ी हतोत्साहित होता है। अगर कोई नया गेंदबाज अपने ओवर में चौका खा जाता है तो सबसे पहले वह अपने कप्तान की ओर देखता है कि उनकी क्या प्रतिक्रिया है ऐसे में कप्तान को उसके पास जाना चाहिए और ढाढस बंधाते हुए कहना चाहिए कि कोई बात नहीं अगली गेंद तुम अच्छी डालोगो। ये भी पढ़ें: क्या पाकिस्तान में क्रिकेट का पतन हो रहा है?

लेकिन धोनी मैदान में अक्सर शांत नजर आते हैं जो सही नहीं है। कपिल देव सोमवार को सलाम क्रिकेट में सम्मिलित होने के लिए दिल्ली पहुंचे थे और इस दौरान उन्होंने भारतीय टीम के संबंध में कई बातें साझा कीं। कपिल देव ने टी20 विश्व कप को नजर में रखते हुए कहा कि भारत के अलावा इस विश्व कप के सेमीफाइनल में ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका और पाकिस्तान सेमीफाइनल में पहुंच सकते हैं। उन्होंने कहा कि आज भारतीय टीम अच्छा प्रदर्शन कर रही है क्योंकि खिलाड़ियों के बीच आपस में अच्छी प्रतिस्पर्धा देखने को मिल रही है। जो टीम के प्रदर्शन के लिए अच्छी बात साबित हो रही है। साथ ही उन्होंने कहा कि वर्तमान में भारतीय टीम जिस प्रकार की क्रिकेट खेल रही है उसे देखकर वह किसी टीम से हार नहीं सकती।

साथ ही उन्होंने वर्तमान क्रिकेट में बल्लेबाजी के प्रभुत्व पर चुटकी लेते हुए कहा कि बल्लेबाजों की तकनीकि पिछले सालों में बहुत बेहतर हुई है वहीं गेंदबाजो के लिए कुछ खास नहीं किया गया है और उन्हें मजदूर बनाकर रखा है। साथ ही उन्होंने कहा कि टी20 विश्व कप 2016 में पिच किस तरह की होंगी इसका अंदाजा अभी नहीं लगाया जा सकता क्योंकि पिच बनाने का अधिकार खुद आईसीसी के पास है। ऐसे में कोई भी टीम टी20 विश्व कप में कमाल कर सकती है। उन्होंने कहा कि इंग्लैंड टीम ने भी पिछले कुछ महीनों में अच्छा प्रदर्शन किया है और वह इस विश्व कप में अच्छा प्रदर्शन कर सकती है।