घरेलू क्रिकेट में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर राष्ट्रीय टीम में जगह बनाने वाले मयंक अग्रवाल भारतीय युवा खिलाड़ियों के लिए उदाहरण हैं। ऐसा कहना है तिहरा शतक जड़ने वाले भारतीय बल्लेबाज करुण नायर का।

अपने छोटे से टेस्ट करियर में दो दोहरे शतक लगा चुके मयंक फिलहाल भारतीय टीम से बाहर हैं, हालांकि वो कर्नाटक के लिए रणजी मैच भी नहीं खेल सकेंगे। दरअसल बीसीसीआई ने कर्नाटक क्रिकेट एसोसिएशन से इस खिलाड़ी को आराम देने की अपील की है। नायर का कहना है कि मयंक की गैरमौजूदगी में बाकी खिलाड़ियों को आगे आने का मौका मिलेगा।

भारत की तरफ से छह टेस्ट मैच खेलने वाले नायर ने कहा, ‘‘मयंक बड़ा खिलाड़ी है, लेकिन उनकी अनुपस्थिति से किसी अन्य को खुद को साबित करने का मौका मिलेगा। मयंक शुरू से ही कड़ी मेहनत करने वाला खिलाड़ी रहा है, इसलिए ये समय है जबकि उसे अपनी मेहनत का फल मिल रहा है।’’

हार्दिक पांड्या से प्रतिद्वंदिता पर शिवम दुबे ने कहा- इस बारे में नहीं सोचता

मुंबई के खिलाफ रणजी ट्रॉफी मैच में मयंक की अनुपस्थिति से दूसरे खिलाड़ियों को खुद को साबित करने का मौका मिलेगा। मयंक को भारत ए टीम के साथ दस जनवरी को न्यूजीलैंड दौरे पर जाना है और इस वजह से ही बीसीसीआई ने उन्हें आगामी रणजी मैच से बाहर रखने का आग्रह किया है।