Mitchell Marsh on Australia’s captaincy: If the opportunity arrives I’ll grab it with both hands
Mitchell Marsh © Getty Images

बॉल टैंपरिंग मामले में स्टीवन स्मिथ और डेविड वार्नर पर एक साल का बैन लगने के बाद से ऑस्ट्रेलियाई टीम की नेतृत्व टीम स्थिर नहीं हो पाई है। हालिया सीरीजों में टिम पेन की असफलता के बाद एशेज से पहले टीम अब किसी नए चेहरे की तरफ रुख कर सकती है। इसी बीच ऑलराउंडर मिचेल मार्श ने ऑस्ट्रेलिया टीम की कप्तानी में अपनी दिलचस्पी दिखाई है।

ऑस्ट्रेलिया ए टीम के साथ भारत दौरे पर आए मार्श ने कहा, “कप्तानी ऐसी चीज नहीं है जिसके बारे में मैं काफी ज्यादा सोचता हूं लेकिन अगर मेरे पास मौका आता है तो मैं दोनों हाथों से उसे लूंगा। हालांकि आखिर में ये मेरे बस में नहीं है।”

डैरन लेहमेन के इस्तीफा देने के बाद टीम के मुख्य कोच बने जस्टिन लैंगर पहले वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया के कोच थे। वहीं पिछले साल मार्श की कप्तानी में वेस्टर्न ऑस्ट्रेलिया टीम जेएलटी कप भी जीता था, ऐसे में मार्श कप्तान पद से मजबूत दावेदार बनते हैं।

मार्श ने एड़ी की चोट के चलते भारत में हुए क्वाड्रैंगुलर सीरीज में हिस्सा नहीं लिया। साथ ही बैंगलोर में भारत ए के खिलाफ खेले गए पहले अनाधिकारिक टेस्ट में भी मार्श नहीं खेले। 8 सितंबर को अलूर में होने वाले दूसरे अनाधिकारिक टेस्ट मैच में मार्श ए टीम का नेतृत्व करेंगे। उन्होंने कहा, “फिलहाल मैं इन स्थितियों में कप्तानी करने को लेकर उत्साहित हूं। ये मेरे लिए नया अनुभव होगा और मैं इसका इंतजार कर रहा हूं।”

मार्श ने आगे कहा, “मेरे लिए सबसे पहला काम थोड़ा क्रिकेट खेलना और मैदान पर वापसी का मजा लेना है। ऑस्ट्रेलिया ए सीरीज में मेरे पास अपने ऊपर ध्यान देने और कुछ रन बनाने का अच्छा मौका होगा। लेकिन सबसे जरूरी बात है हम टीम में ऐसा कल्चर तैयार करना चाहते हैं कि हम यहां जीतने के लिए आए हैं। मैं अपना सर्वश्रेष्ठ करने की कोशिश करूंगा लेकिन हमे ऑस्ट्रेलिया के लिए जीत चाहिए।”