भारतीय टीम के पूर्व स्पिनर मुरली कार्तिक (Murali Karthik) ने साल 2012 के एक प्रकरण के बारे में बताया जब फैन्‍स द्वारा हूटिंग किए जाने के चलते उनकी पत्‍नी मैदान छोड़कर चली गई थी.

ये वाक्‍या साल 2012 का है. कार्तिक इंग्लिश काउंटी क्रिकेट में सर्रे की तरफ से सोमरसे क्‍लब के खिलाफ खेल रहे थे. यू-ट्यूब चैनल पर बातचीत के दौरान कार्तिक ने कहा, “मेरी पत्‍नी मैदान छोड़कर चली गई थी. ये एक तरह से मैच देखने आए लोगों से खतरे की तरह था. वो हूटिंग कर रहे थे. वो लगभग ड्रेसिंग रूम में प्रवेश कर गए थे.”

उन्‍होंने कहा, “मेरे मामले में मैंने बल्‍लेबाज को तीन बार मांकडिंग के लिए आगाह किया था. उन्‍होंने इसके बारे में बात नहीं की. इसे नजरअंदाज करते हुए वो गेंदबाज पर दोष ठहराने लगे. अगर गेंद डालने से पहले बल्‍लेबाज लाइन से बाहर निकलेगा तो मैं सभी 11 बल्‍लेबाजों के साथ ऐसा करने को तैयार हूं.”

मुरली कार्तिक (Murali Karthik) ने कहा, “मैं इससे पहले पांच बार मांकडिंग आउट कर चुका था. क्‍योंकि ये सोमरसेट के खिलाफ था इसलिए ये विवादित बन गया. ये वो क्‍लब है जिसके लिए मैं तीन साल खेल चुका था. सोमरसेट मैनेजमेंट पहले ही मेरे सर्रे जाने से नाराज था. उन्‍होंने मेरे खिलाफ कई आरोप लगाए. उनका आरोप था कि मेरी पत्‍नी को सिटी लाइफ पसंद है इसलिए मैं लंदन की तरफ गया.”

मुरली कार्तिक ने आगे कहा, “उनके हिसाब से जो बल्‍लेबाज कर रह है वो सही है और जो गेंदबाज कर हरा है वो गलत है. खेल की मर्यादा को बीच में लाकर उन्‍होंने गेंदबाज को दोषी बना दिया. ये गलत था. 2012 का ये प्रकरण भी एमसीसी के पास गया था.”

“शायद उस वक्‍त श्रीलंका और इंग्‍लैंड की सीरीज चल रही थी. उस वक्‍त नासिर हुसैन, माइकल होल्डिंग ने भी मेरे मांकडिंग प्रकरण को सही बताया था. उस वक्‍त यह शब्‍द इस्‍तेमाल किया गया कि जो भी गेंदबाज ने किया वो अनजाने में हुआ. क्‍या आप रात में कार चला रहे हैं. आपने ट्रैफिक सिग्‍नल देखा. आसपास कोई नहीं था. क्‍या आप इसलिए सिग्‍नल क्रॉस कर जाएंगे क्‍यों‍कि वहां कोई नहीं खड़ा है. मैंने ऐसी बाइबल को नहीं पढ़ा है जि से खेल भावना कहा जाता है.”

मुरली कार्तिक (Murali Karthik)ने कहा, “साल 2019 के आईपीएल के दौरान रविचंद्रन अश्विन ने भी जोस बटलर को मांकडिंग आउट किया. उस वक्‍त मैंने अश्विन का साथ दिया.”