रॉस टेलर © Getty Images
रॉस टेलर © Getty Images

क्रिकेट के मैदान पर अकसर शतक लगाकर बल्लेबाज खुशी के मारे उछलते और जश्न मनाते हुए दिखाई देते हैं लेकिन न्यूजीलैंड के मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज रॉस टेलर शतक लगाने के बाद रो पड़े। दरअसल वेस्टइंडीज के खिलाफ हैमिल्टन टेस्ट की दूसरी पारी में रॉस टेलर ने नाबाद 107 रन बनाए जो कि उनके टेस्ट करियर का 17वां शतक था। इस शतक के साथ ही उन्होंने अपने गुरु और न्यूजीलैंड के महान बल्लेबाज मार्टिन क्रो के रिकॉर्ड की बराबरी भी कर ली।

टेलर न्यूजीलैंड की तरफ से सबसे ज्यादा टेस्ट शतक लगाने के मामले में संयुक्त रूप से पहले नंबर पर आ गए हैं। टेलर के अलावा कप्तान केन विलियमसन के 63* मैचों में 17 और मार्टिन क्रो के भी 77 मैचों में 17 शतक हैं। अब टेलर ने 83* मैचों में 17 शतक लगाकर इस बड़े मुकाम को हासिल किया।शतकीय पारी खेलने के बाद रॉस टेलर का इंटरव्यू हुआ तो वो इमोशनल हो गए। शतक लगाने के बाद रॉस टेलर ने मार्टिन क्रो को याद किया जो कि उनके मेंटॉर भी थे। क्रो ने हमेशा टेलर की सोच को सराहा था और आज अपने गुरु का रिकॉर्ड बराबर करने के बाद उनका इमोशनल होना लाजमी था।

 

द.अफ्रीका दौरे से पहले टीम इंडिया को बड़ा झटका, एकलौता प्रैक्टिस मैच रद्द
द.अफ्रीका दौरे से पहले टीम इंडिया को बड़ा झटका, एकलौता प्रैक्टिस मैच रद्द

वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट की पहली पारी में कुछ खास न कर पाने वाले टेलर ने दूसरी पारी में शानदार बल्लेबाजी की। एक तरफ जहां टीम के विकेट गिरते जा रहे थे तो वहीं दूसरी तरफ टेलक अकेले दमपर टीम को मजबूत स्थिति में पहुंचाने में लगे थे। आखिरकार टेलर ने अपने करियर का 17वां शतक लगाकर इतिहास रचा। टेलर आंत तक आउट नहीं हुए और उन्होंने 198 गेंदों में 11 चौकों की मदद से 107 रन की पारी खेली। टेलर की शानदार बल्लेबाजी की बदौलत कीवी टीम ने दूसरी पारी 291/8 पर घोषित की। इस विशाल लक्ष्य के जवाब में मेहमान टीम ने महज 30 रनों पर दो विकेट गंवा दिए हैं। ब्रेथवेट 13 और हेटमार 15 रन बनाकर पैवेलियन लौट चुके हैं। टिम साउदी और ट्रेंट बोल्ट को 1-1 विकेट लिया है।