No pressure on me to increase competition to make it to Team India: Mohammad Shami
मोहम्मद शमी (IANS)

दिसंबर 2020 के बाद से क्रिकेट के मैदान से दूर चल रहे भारतीय तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी वापसी के लिए तैयार हैं। एडिलेड में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के तीसरे दिन पैट कमिंस की गेंद लगने के बाद चोटिल हुए शमी को स्वदेश वापस लौटना पड़ा था। अब ये गेंदबाज इंडियन प्रीमियर लीग के 14वें सीजन के जरिए मैदान पर उतरने को लेकर उत्साहित है।

30 साल के शमी ने आईपीएल 2020 में 14 मैचों में 20 विकेट चटकाए थे। क्वारंटीन से बाहर आए शमी  ने आईपीएल 2021 के लिए पंजाब किंग्स के खिलाड़ियों के साथ अपनी ट्रेनिंग भी शुरू कर दी है। आईएएनएस से बातचीत में शमी ने कहा, “मैं अभी क्वारंटाइन से बाहर आया हूं। पहले से अभ्यास चल रहा था। मैंने अभी टीम के साथ शुरूआत की है। हमारे पास 10-12 दिन हैं (पंजाब का पहला मैच 12 अप्रैल को राजस्थान रॉयल्स के खिलाफ) बचे हैं।”

शमी ने मौजूदा भारतीय टीम की प्लेइंग इलेवन में जगह बनाने को लेकर चल रही कड़ी प्रतिद्वंद्विता को लेकर भी बात की। उन्होंने कहा, “आपका चयन आपके कौशल, अनुभव और प्रदर्शन पर निर्भर करता है। सभी चीजें अलग हैं। यदि स्वस्थ प्रतिस्पर्धा है, तो इसका मतलब यह नहीं है कि आप खुद पर से अपना विश्वास खो दें।”

IPL 2021: कोविड टेस्ट निगेटिव आने के बाद KKR के साथ अभ्यास शुरू करेंगे नितीश राणा

शमी ने कहा, “ऐसा नहीं है कि प्रतिस्पर्धा से दबाव बनती है या किसी को निर्थक बना देती है। प्रत्येक खिलाड़ी के कौशल अलग अलग होते हैं, टीम में उनकी अलग-अलग भूमिकाएं होती है। हम अपने बारे में नहीं सोचते, हमें देश के बारे में सोचना होगा। जो कोई भी (किसी भी स्थिति या मैच के लिए) सर्वश्रेष्ठ है, उन्हें चुना जाता है।”

तेज गेंदबाज का कहना है कि किसी भी खिलाड़ी के लिए कड़ी मेहनत सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण होती है। उन्होंने कहा, ” मुकाबले तो होते रहते हैं। यह आप पर निर्भर करता है कि आपकी किस्मत कैसी है और आपका फिटनेस किस स्तर का है। आपको केवल अपने दिमाग में यह रखना है कि आपको कड़ी मेहनत करनी है और टीम में एक दूसरे की मदद करते रहना है।”