‘No room for abuse’ in Australia-India series: coach Justin Langer
(Getty Images)

ऑस्ट्रेलियाई कोच जस्टिन लैंगर का कहना है कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच होने वाली सीरीज में अभद्र भाषा के इस्तेमाल के लिए कोई जगह नहीं होगी।

सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर ने कहा था कि उन्हें उम्मीद है कि विराट कोहली की टीम इस दौरे पर उन्हें उकसाने की कोशिश करेगी। लेकिन लैंगर ने कहा कि ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी किसी भी बहस या बातचीत को खेलभावना के अंदर रखेंगे।

बुधवार को कॉन्फ्रेंस कॉल पर दिए बयान में लैंगर ने कहा, “बहस के लिए काफी मौके होंगे, मजे करें और प्रतिद्वंद्वी भावना दिखाएं लेकिन अभद्रता के लिए कोई जगह नहीं है। जिस किसी ने भी हमें पिछले कुछ सालों में देखा है वो जानता है कि हमने मैदान पर अपने रवैये को लेकर काफी बातचीत की है।”

साल 2018 पर भारत के खिलाफ खेली टेस्ट सीरीज के दौरान भारतीय कप्तान विराट कोहली और ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन के बीच हुई भिड़ंत तो याद करते हुए लैंगर ने कहा, “विराट कोहली जो कर रहा था वो हमें पंसद आया, उसके पीछे मजाकिया भावना थी।”

BCCI का कहना- टेस्ट टीम का हिस्सा नहीं थे रोहित-इशांत; ऑस्ट्रेलिया दौरे से बाहर होने की संभावना

इस दौरान लैंगर ने भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज के लिए ऑस्ट्रेलिया की सलामी जोड़ी को लेकर भी चर्चा की- क्या जो बर्न्स की जगह विल पुकोवस्की डेविड वार्नर के साथ पारी की शुरुआत करते दिखेंगे?

उन्होंने कहा, “हम विल के बारे में बहुत बहुत अच्छा सोचते हैं, उसके पास विशाल प्रतिभा है। जब मौका आएगा, वो टेस्ट क्रिकेट खेलने के लिए तैयार है। उम्मीद है मौका जल्द आएगा, चाहे इस सीरीज में हो या अगली सीरीज में।”

लैंगर के बयान से साफ है कि वो आगामी सीरीज के लिए बर्न्स पर भी भरोसा दिखाएंगे। हालांकि माइकल क्लार्क, इयान चैपल और मार्क वॉ समेत कई पूर्व दिग्गजों ने पुकोवस्की को भारत के खिलाफ मौका दिए जाने की बात कही है।