इंग्लैंड और वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ECB) के मुख्य कार्यकारी टॉम हैरीसन (Tom Harrison) ने गुरूवार को दिए बयान में साफ कहा है कि भारत-इंग्लैंड के बीच चार अगस्त से शुरू हो रही पांच मैचों की टेस्ट सीरीज से पहले दोनों टीमों में कोविड मामले पाए जाने के बावजूद सख्त बायो सिक्योर बबल नहीं बनाया जाएगा।

डरहम में अभ्यास मैच से पहले भारतीय टीम में कोरोना संक्रमण के दो मामले पाये गए। वहीं इंग्लैंड को पाकिस्तान के खिलाफ सीरीज में दूसरे दर्जे की टीम उतारनी पड़ी क्योंकि उसके कई प्रमुख खिलाड़ी श्रीलंका के खिलाफ सीरीज में पॉजिटिव पाये गए थे।

वहीं दूसरी ओर ब्रिटेन में बुधवार को कोरोना संक्रमण के 42,000 से अधिक मामले पाये गए।

हैरीसन ने कहा, ‘‘कोरोना से निपटने के मामले में छह महीने या साल भर पहले से अब हालात अलग हैं। हम इसके साथ जीना सीख रहे हैं। लोगों के लिए बायो बबल की बजाय सुरक्षित माहौल तैयार कर रहे हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘खिलाड़ी बायो बबल से आजिज आ चुके हैं। इससे खिलाड़ियों के मानसिक स्वास्थ्य पर असर पड़ रहा है। हमें कोरोना से निपटना सीखना होगा। निकट भविष्य में इसके साथ ही जीना है। हम प्रोटोकॉल का पूरा पालन करेंगे।’’