मिस्बाह-उल-हक ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लिया © Getty Images
मिस्बाह-उल-हक ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास का ऐलान किया © Getty Images

पाकिस्तान के दिग्गज क्रिकेटर और टेस्ट कप्तान मिस्बाह-उल-हक ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी है। पाकिस्तान के टेस्ट कप्तान मिस्बाह-उल-हक वेस्टइंडीज दौर के बाद अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लेंगे। वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज 21 अप्रैल से शुरू हो रही है। 42 साल के मिस्बाह की कप्तानी में पाकिस्तान की टीम ने आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में पहला स्थान हासिल किया था और आईसीसी की गदा पाने वाले वो पहले पाकिस्तानी कप्तान बने थे। ये भी पढ़ें: आईपीएल मैच 2, प्रिव्यू: मुंबई इंडियंस के खिलाफ जीत के साथ शुरुआत करना चाहेगी पुणे सुपरजाइंट

पाकिस्तान ट्रिब्यून से बातचीत करते हुए मिस्बाह ने कहा, ”अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से मैं अपने संन्यास की घोषणा कर रहा हूं। वेस्टइंडीज के खिलाफ आगामी सीरीज मेरे करियर की आखिरी सीरीज होगी। मैं घरेलू क्रिकेट में खेलना जारी रखूंगा। मुझे घरेलू क्रिकेट कब छोड़ना है, इस बात का फैसला मैं बाद में लूंगा।” कुछ महीने पहले मिस्बाह ने कहा था कि वो उन्हें 50 साल की उम्र तक क्रिकेट खेलने पर कोई हर्ज नहीं है। लेकिन ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज में 3-0 से हार मिलने के बाद उनकी कप्तानी में सवाल खड़े होने लगे थे। मिस्बाह ने कहा, ”मैंने अपने करियर के दौरान काफी उतार-चढ़ाव देखे हैं। कई बार मुझे टीम से बाहर भी होना पड़ा। लेकिन करियर में मुझे कई अच्छे पल भी देखने को मिले, जिसमें टीम का टेस्ट में नंबर-1 बनना भी रहा, और इसलिए मैं अपने प्रदर्शन से संतुष्ट हूं।”

मिस्बाह लगातार खराब फॉर्म से जूझ रहे थे। मिस्बाह ने न्यूजीलैंड दौरे पर सिर्फ एक मैच खेला था और 44 रन बनाए थे। ऑस्ट्रेलिया में खेली गई तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में मिस्बाह ने सिर्फ 76 रन बनाए थे। मिस्बाह ने पाकिस्तान के लिए अभी तक 72 टेस्ट मैच खेले हैं और 4,951 रन बनाए हैं। वह पाकिस्तान की तरफ से टेस्ट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले खिलाड़ियों में सातवें नंबर पर हैं। वहीं उन्होंने टेस्ट में पाकिस्तान के लिए 53 मैचों में कप्तानी की है, इस दौरान टीम को 24 मैचों में जीत मिली है। मिस्बाह पाकिस्तान के अब तक के सबसे सफल कप्तान हैं।