पूर्व ऑस्ट्रेलिया सलामी बल्लेबाज मैथ्यू हेडन (Matthew Hayden) ने राष्ट्रीय टीम के मैचों से गायब रहने वाले खिलाड़ियों के वेतन में कटौती की मांग की। हेडन की टिप्पणी टेस्ट कप्तान पैट कमिंस (Pat Cummins), सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर (David Warner), तेज गेंदबाज मिशेल स्टार्क (Mitchell Starc) और जॉश हेजलवुड (Josh Hazlewood) को मार्च में पाकिस्तान के खिलाफ सीमित ओवर फॉर्मेट मैचों के लिए आराम दिए जाने के बाद आई है।

हेडन ने ‘द ऑस्ट्रेलियन’ के हवाले से कहा, “जब खिलाड़ी अपने देश के लिए नहीं चुने जाते हैं, तो ये आपके उच्च प्रदर्शन के लिए चिंता का विषय है। आप सभी वास्तव में अपने देश के लिए खेलने के लिए उत्सुक हैं और यदि आपको वो नहीं मिलता है, तो मैं वास्तव में सवाल करता हूं कि आपका प्रदर्शन अच्छा क्यों नहीं है।”

हेडन ने कहा, “आपके द्वारा की गई हर वो चीज जैसे टीम के मूल्यों, सिद्धांतों, अपने साथियों के बारे में कुछ भी अच्छा ना करने की कोशिश करना मुश्किल पैदा करती है। मुझे लगता है कि हाल ही में खिलाड़ियों द्वारा क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया का नेतृत्व किया जा रहा है और इसने कई समस्याओं को खड़ा किया है।”

आराम करने वाले खिलाड़ियों में से कमिंस, वार्नर और हेजलवुड इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) 2022 सीजन में क्रमश: कोलकाता नाइट राइडर्स, दिल्ली कैपिटल और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के लिए खेलने वाले हैं।

लेकिन तीनों 6 अप्रैल तक टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं लेंगे। हेडन, जिन्होंने पिछले साल संयुक्त अरब अमीरात में टी20 विश्व कप के दौरान पाकिस्तान के बल्लेबाजी सलाहकार के रूप में काम किया था, उनको लगता है कि सफेद गेंद वाले मैचों के लिए यह अच्छा नहीं है।

उन्होंने आगे कहा, “जब आप ऑस्ट्रेलिया के लिए खेलना चाहते हैं तो आपको मौके का फायदा उठाना चाहिए। इसका मेरे लिए कोई मतलब नहीं है। हम सभी जानते हैं कि आईपीएल कितना महत्वपूर्ण है। मुझे पता है कि ये मुश्किल हो सकता है खिलाड़ियों और प्रशासकों को आधुनिक कार्यक्रम के दायरे में काम करने के लिए, लेकिन मुझे अभी भी लगता है कि ऑस्ट्रेलिया की ओर से मिले मौके को गंवाना नहीं चाहिए।”