भारतीय क्रिकेट टीम के युवा विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत और अफगानिस्तान के स्टार स्पिनर राशिद खान का बांग्लादेश में हुए अंडर-19 विश्व कप (2016) से पहले 2015 में एक त्रिकोणीय श्रृंखला से पहले आमना-सामना हुआ था। राशिद ने पंत की तारीफ करते हुए कहा है कि पंत की तरकश में हर तरह का शॉट है और जब वह लय में होते हैं तो उन्हें रोकना मुश्किल है।

राशिद ने युजवेंद्र चहल के साथ इंस्टाग्राम चैट पर उस मैच को याद करते हुए कहा, ‘उन्होंने लगातार तीन छक्के लगाए और चौथी गेंद पर उनका कैच छूट गया। इसके बाद हमारे गेंदबाज असहाय दिखे।’

करिश्माई विकेटकीपर बल्लेबाज महेंद्र सिंह धोनी के 2019 विश्व कप के बाद से टीम से बाहर रहने के दौरान कई बार मौका मिलने के बाद भी दिल्ली का बाएं हाथ का यह बल्लेबाज टीम में अपनी जगह पक्की नहीं कर सका।

राशिद ने कहा, ‘उनके पास हर तरह के शॉट खेलने का विकल्प है। वह ऐसा बल्लेबाज है जिसे गेंदबाजी करना बहुत कठिन है। मुझे याद है कि अंडर -19 त्रिकोणीय श्रृंखला में कोलकाता के एक मैदान में मैंने उसके खिलाफ गेंदबाजी की है।’

बड़े शॉट लगाने वाले बल्लेबाजों के खिलाफ गेंदबाजी कौशल के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इसके लिए बल्लेबाजों को भ्रमित करना पड़ता है। राशिद और चहल ने इस मौके पर भारत अफगानिस्तान की संयुक्त एकदिवसीय एकादश भी बनाई।

एकदिवसीय टीम इस प्रकार है:

रोहित शर्मा, शिखर धवन, विराट कोहली, रहमत शाह, लोकेश राहुल, एमएस धोनी, हार्दिक पांड्या / मोहम्मद नबी, राशिद खान / युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, मुजीब उर रहमान