Ravi Shankar Prasad says banning cricket with Pakistan a justified demand
India-Pakistan (File Photo) © Getty Images

केंद्रीय कानून मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने बुधवार को कहा कि जो लोग आगामी विश्व कप 2019 (ICC World Cup 2019) में पाकिस्तान (India vs Pakistan ) के बहिष्कार की मांग कर रहे हैं वह कुछ हद तक ‘औचित्यपूर्ण’ है क्योंकि पुलवामा आतंकी हमले (Pulwama Terror Attack ) के बाद दोनों देशों के बीच चीजें सामान्य नहीं हैं।

जम्मू कश्मीर में पिछले तीन दशक के सबसे घातक आतंकी हमले में जब से सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हुए तब से ही यह मांग उठ रही है कि भारत को 30 मई से इंग्लैंड में शुरू होने वाले विश्व कप में पाकिस्तान से नहीं खेलना चाहिए।

पढ़ें:- क्लाइव लॉयड जैसे कप्तान हैं रोहित शर्मा: सुनील गावस्कर

भारत और पाकिस्तान के बीच राउंड रोबिन चरण में 16 जून को ओल्ड ट्रैफर्ड में मुकाबला होना है। सूचना एवं प्रौद्योगिकी मंत्री पद भी संभालने वाले प्रसाद ने ‘इंडिया टुडे’ से कहा, ‘‘मैं यह कहने के अलावा (क्रिकेट मामलों पर) कोई अन्य टिप्पणी नहीं कर सकता कि जो लोग इसकी मांग कर रहे हैं उनका कुछ औचित्य है। आप देख सकते हैं कि कई फिल्में और संगीत सम्मेलन रद्द हो गये हैं। चीजें सामान्य नहीं हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘अगर चीजें सामान्य नहीं रहती हैं तो झप्पियां-पप्पियां का मामला रहेगा।’’ प्रसाद हालांकि सीधे तौर पर मैच का बहिष्कार करने की अपील से बचते रहे और कहा कि बीसीसीआई और आईसीसी का काम है कि वह स्थिति का आकलन करके उसके अनुसार फैसला करे।

पढ़ें:- मरते दम पर यूनिवर्स बॉस मैं ही रहूंगा: क्रिस गेल

उन्होंने कहा, ‘‘यह अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट है तथा आईसीसी और भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) हमारी सुरक्षा इकाईयों के साथ बातचीत के बाद फैसला करेंगे, लेकिन मैं उनकी चिंताओं को समझ सकता हूं। अब न कहने का समय आ गया है। इमरान खान ने मारे गये सैनिकों के लिये श्रद्धांजलि के दो शब्द तक नहीं कहे।’’

उन्होंने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के मंगलवार को दिये गये भाषण के संदर्भ में यह बात कही जिसमें उन्होंने हमले में पाकिस्तान का हाथ होने का खंडन किया और भारत से सबूत देने के लिये कहा।

बीसीसीआई शुरू से कहता रहा है कि पाकिस्तान के साथ द्विपक्षीय क्रिकेट के मामले में वह सरकार के दिशानिर्देशों का पालन करेगा। दूसरी तरफ आईसीसी ने कहा कि उसे नहीं लगता कि वर्तमान स्थिति के कारण विश्व कप का कार्यक्रम प्रभावित होगा।