संजीव चावला भारत और साउथ अफ्रीका सीरीज के मैच फिक्स करने का जिम्मेदार था© Getty Images
संजीव चावला साल 2000 में भारत और साउथ अफ्रीका सीरीज के मैच फिक्स करने का जिम्मेदार था© Getty Images

साल 2000 का मैच फिक्सिंग स्कैंडल तो आपको याद ही होगा। उसी स्कैंडल में मैच फिक्सिंग के आरोपी संजीव चावला को बीत जून माह में लंदन से गिरफ्तार किया गया था। इसी स्कैंडल में हैंसी क्रोनिए का नाम सामने आया था। दिल्ली पुलिस इस मैच फिक्सिंग कांड की जांच कर रही थी और चावला की गिरफ्तारी के बाद उसको भारत ले जाने का प्रयास कर रही है। इस संबंध में दिल्ली पुलिस ने यूके से संजीव चावला के प्रत्यर्पण की गुजारिश भी की है। इसके जवाब में वहां के अधिकारियों ने जेल की सुविधाओं और सुरक्षा इंतजाम की पूरी जानकारी मांगी है। चावला पर भारत और साउथ अफ्रीका के बीच 2000 में खेले गए मैचों को फिक्स करने का आरोप है।

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक दिल्ली पुलिस ने विदेश मंत्रालय के द्वारा यूके की क्राउन प्रोसीक्यूशन सर्विस को जवाब दिया है कि संजीव चावला को दिल्ली के तिहाड़ जेल में रखा जाएगा। दिल्ली के इस जेल में अंतर्राष्ट्रीय स्तर की सुविधाएं हैं। गौरतलब है कि संजीव चावला को 14 जून को लंदन में गिरफ्तार किया गया था। चावला के केस की सुनवाई 3 अक्टूबर को होगी। दिल्ली पुलिस ने इस मामले में 2013 में एक चार्जशीट फाइल की थी, जिसमें क्रोनिए का नाम भी था।

70 पन्नों की इस चार्जशीट में संजीव चावला और हैंसी क्रोनिए को साल 2000 में 16 फरवरी से 20 मार्च तक भारत और साउथ अफ्रीका के बीच मैच फिक्स करने का जिम्मेदार बताया गया था। [Also Read: इंडिया रेड को 355 रनों से हराकर इंडिया ब्लू ने दिलीप ट्रॉफी पर कब्जा जमाया]

इस मैच फिक्सिंग में हेंसी क्रोनिए के अलावा हर्षल गिब्स, निकी बोए और पीटर स्ट्राएडम का नाम भी जुड़ा था। इस स्कैंडल में फंसने के बाद ही क्रोनिए ने अपने स्टेटमेंट में कहा था कि भारतीय टीम को कप्तान मोहम्मद अजहरूद्दीन ने उन्हें बुकी मुकेश गुप्ता से मिलवाया था, इस तरह भारत में भी मैच फिक्सिंग के तार जुड़े थे। इस मैच फिक्सिंग में नाम आने के 2 साल बाद 2002 में क्रोनिए की मौत एक विमान दुर्घटना में हो गई थी।