England Women vs India Women, Only Test: भारतीय महिला टीम ने काउंटी क्रिकेट ग्राउंड पर स्नेह राणा (नाबाद 80) और तानिया भाटिया (नाबाद 44) के बीच नौवें विकेट के 99 रनों की अविजित साझेदारी के दम पर इंग्लैंड के खिलाफ एकमात्र टेस्ट को ड्रॉ कराया. इंग्लैंड ने दूसरे दिन नौ विकेट पर 396 रन बनाकर अपनी पहली पारी घोषित की थी, जबकि भारत की पहली पारी आज पहले सत्र में 231 रनों पर सिमट गई और इससे इंग्लैंड को 165 रनों की बड़ी बढ़त हासिल हुई, जिसके बाद उसने भारत को फोलोऑन खेलने पर मजबूर कर दिया. लेकिन भारतीय टीम ने फोलोऑन उतारने के बाद अच्छी खासी बढ़त भी ले ली और फिर मैच को ड्रॉ भी करा दिया.

भारतीय महिला टीम की कप्तान मिताली राज ने बेहतरीन प्रदर्शन करने पर टीम की खिलाड़ी स्नेह राणा की सराहना करते हुए कहा कि कुछ अच्छे घरेलू सीजन में खेलने से उनका मनोबल बढ़ा जिसके कारण स्नेह इस मुकाबले में ऑलराउंड प्रदर्शन कर सकीं. स्नेह पहली महिला क्रिकेटर बनीं जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में चार विकेट लेने के साथ ही अर्धशतक लगाया है. स्नेह ने दूसरी पारी में नाबाद 80 रन बनाए थे और मुकाबला ड्रॉ कराने में अहम भूमिका अदा की थी.

मिताली ने क्रिकइंफो से कहा, “राणा ने अच्छी वापसी की लेकिन उन्होंने इससे पहले कुछ अच्छे घरेलू सीजन खेले. मुझे यकीन है कि इससे उनका मनोबल बढ़ा होगा. उन्होंने तानिया भाटिया और शिखा पांडे के साथ अच्छे से पारी को संभाला. ये साझेदारियां हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण रही.”

मिताली ने कहा कि निचले क्रम पर स्नेह के योगदान ने भारत को यह मुकाबला ड्रॉ कराने में बड़ी भूमिका निभाई. मिताली ने कहा, “मैं सभी डेब्यू करने वाली खिलाड़ियों से प्रभावित हूं. शैफील वर्मा, दीप्ति शर्मा, स्नेह, तानिया और पूजा वस्त्राकर ने बेहतरीन प्रदर्शन किया. हमें यह समझना होगा कि इन खिलाड़ियों के पास अनभव नहीं है और हम इन पर ज्यादा दबाव नहीं डाल सकते.” मिताली ने कहा कि यह मुकाबला ड्रॉ होने से टीम को मनोवैज्ञानिक रूप से मजबूती मिली.