दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड के बीच 4 मैचों की सीरीज का दूसरा टेस्ट मैच शुक्रवार से केपटाउन के न्यूलैंड्स मैदान पर खेला जाएगा. ये वही मैदान है जहां 4 साल पहले इंग्लैंड के स्टार ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने दोहरा शतक जड़ मेजबान को ड्रॉ पर मजबूर कर दिया था.

साल 2020 में भी भारतीय क्रिकेट टीम के सामने वर्ल्ड कप में नॉकआउट से आगे बढ़ने की होगी चुनौती, जानिए पूरा शेड्यूल

0-1 से पिछड़ रही इंग्लिश टीम इस टेस्ट को जीतकर सीरीज में बराबरी करना चाहेगी. इंग्लैंड को पहले टेस्ट में दक्षिण अफ्रीका से 107 रन से हार का मुंह देखना पड़ा था जिससे वह जीत दर्ज करने के लिए हर विभाग में सुधार करना चाहेगी.

स्टोक्स ने जॉनी बेयरस्टो के साथ मिलकर वर्ल्ड रिकॉर्ड 399 रन की साझेदारी की थी

चार साल पहले इंग्लैंड के बेन स्टोक्स ने 11 छक्के जड़कर 198 गेंद में 258 रन बनाये थे और जॉनी बेयरस्टो (191 गेंद में नाबाद 150 रन) के साथ छठे विकेट के लिये 399 रन की विश्व टेस्ट रिकॉर्ड साझेदारी बनाई थी.

इंग्लैंड ने उस मैच में जीत से चार मैचों की सीरीज में 1-0 से जीत हासिल कर सीरीज जीत ली थी. लेकिन इस बार टीम सेंचुरियन में शुरूआती मुकाबले में हार गयी जिससे टीम अब इस टेस्ट में जीत से 1-1 से बराबरी पर आना चाहेगी.

कप्तान रूट खराब रिकॉर्ड से हैं दबाव में

इंग्लैंड के कप्तान जो रूट अपनी टीम के विदेशों में हालिया खराब रिकॉर्ड से काफी दबाव में हैं. बेयरस्टो ने सेंचुरियन में एक और नौ रन बनाये जिससे उनके न्यूलैंड्स में इस बार खेलने की संभावना कम है.

600 से अधिक का स्कोर बना था 4 साल पहले

न्यूलैंड्स में 2016 में दोनों टीमों ने पहली पारियों में 600 रन से ज्यादा का स्कोर बनाया था. 2011 से यहां हुए 11 टेस्ट मैचों में केवल एक ही ड्रा रहा था. दक्षिण अफ्रीका ने 10 में से नौ मैच जीते और एक गंवाया है.

वर्ल्ड कप जीत के हीरो रहे इस भारतीय खिलाड़ी पर गंभीर आरोप, लगा 1 साल का बैन

दक्षिण अफ्रीका के चोटिल ऐडन मार्कराम की जगह सलामी बल्लेबाज पीटर मलान को पदार्पण कराने की उम्मीद है.

इंग्लैंड की टीम पहले टेस्ट में स्पिनर के बिना उतरी थी लेकिन न्यूलैंड्स की पिच पर स्पिनरों की जरूरत है इसलिए उसके लिए स्पिनर का चयन भी दुविधा भरा होगा क्योंकि टीम के पहुंचने के बाद जैक लीच बीमार है. वह उबर रहे हैं लेकिन उनका मैच में उतरना संभव नहीं है.

एंडरसन हो सकते हैं प्लेइंग इलेवन से बाहर

लेग स्पिनर मैट पार्किन्सन पहले दो अभ्यास मैचों में प्रभावित नहीं कर सके. आफ स्पिनर डॉम बेस को स्टैंडबाय के तौर पर बुलाया गया और उनके अनुभवी तेज गेंदबाज जेम्स एंडरसन की जगह चुने जाने की उम्मीद है. इंग्लैंड के सबसे अहम तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर ने बुधवार को नेट अभ्यास में गेंदबाजी नहीं की.