Sports News Today 07 February,NZvIND, 2nd ODI: हैमिल्टन वनडे में मिली हार के बाद भारतीय क्रिकेट टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज बचाने के इरादे से ऑकलैंड के ईडन पार्क में शनिवार को उतरेगी. मौजूदा दौरे पर भारत को पहली बार हार का स्वाद चखना पड़ा है. 3 मैचों की सीरीज के पहले वनडे में कई पहलू ऐसे रहे जिनमें टीम इंडिया को सुधार की जरूरत है. कप्तान विराट कोहली और टीम मैनेजमेंट को अब कड़ फैसले लेने होंगे. टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन में 2 बदलाव संभव है.

India vs New Zealand: टीम इंडिया पर वापसी का दबाव, जानिए आंकड़ों में कौन है किसपर भारी

टीम इंडिया की ओर से लचर फील्डिंग और खराब गेंदबाजी का नतीजा रहा कि मेजबान टीम पहली बार मौजूदा सीरीज में जीत दर्ज करने में सफल रही. ऑकलैंड वनडे से तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर और चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव को प्लेइंग इलेवन से बाहर किया जा सकता है.

ओपनिंग की जिम्मेदार मयंक अग्रवाल और पृथ्वी शॉ के कंधों पर होगी

मयंक अग्रवाल और पृथ्वी शॉ ने हैमिल्टन में अपने वनडे इंटरनेशनल करियर की शुरुआत की थी. इस मैच में मयंक ने 31 गेंदों पर 32 रन की पारी खेली थी. हालांकि वह अच्छी शुरुआत को बड़े स्कोर में तब्दील नहीं कर पाए थे. 20 साल के पृथ्वी ने 21 गेंदों पर 20 रन बनाए थे. दोनों ने पहले विकेट के लिए अर्धशतकीय साझेदारी की थी.

मिडिल ऑर्डर में होंगे विराट कोहली, श्रेयस अय्यर और केएल राहुल 

‘रन मशीन’ विराट कोहली ने पहले वनडे में 51 गेंदों पर 61 रन की पारी खेली थी. अच्छी लय में दिख रहे कोहली को स्पिनर ईश सोढ़ी ने आउट किया. उधर, श्रेयस अय्यर ने 107 गेंदों पर 103 रन की पारी खेली थी. उन्होंने धीमी शुरुआत की थी और उन्हें तीन जीवनदान भी मिले. बेहतरीन लय में चल रहे केएल राहुल पर भी बल्लेबाजी का दारोमदार होगा जिन्होंने टी20 सीरीज में शानदार प्रदर्शन किया था.

केदार जाधव और रवींद्र जडेजा देंगे मजबूती

ऑलराउंडर केदार जाधव ने पहले वनडे में 15 गेंदों पर 26 रन बनाए थे. केदार ने उस समय क्रीज पर कदम रखा जब सिर्फ 5 ओवर बचे थे. उन्होंने अपना काम बखूबी किया. जाधव ने दो कैच भी लिए. ऐसे में टीम मैनेजमेंट उन्हें ड्रॉप करने के बारे में नहीं सोच सकती है. हालांकि शिवम दुबे अतिरिक्त बॉलिंग विकल्प दे सकते हैं लेकिन शिवम का प्लेइंग इलेवन में जगह बनाना मुश्किल है.

दूसरे वनडे से पहले भारतीय फील्डिंग कोच को सता रहा ये डर, बोले-फील्डर को कप्तान के इशारे की जरूरत नहीं

रवींद्र जडेजा हैमिल्टन में 10 ओवर में 64 रन लुटाए. हालांकि उन्होंने टीम में शामिल सभी भारतीय गेंदबाजों में सबसे किफायती गेंदबाजी की. फील्डिंग में भी वह कई रन बचा सकते हैं.

युजवेंद्र चहल

हैमिल्टन वनडे में 84 रन खर्च करने वाले चाइनामैन गेंदबाज कुलदीप यादव की जगह लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल को प्लेइंग इलेवन में मौका दिया जा सकता है.

मोहम्मद शमी

बेशक तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने भी पहले वनडे में जमकर रन लुटाए हों बावजूद इसके उन्हें टीम हीं मैनेजमेंट बिठाने के बारे में नहीं सोच सकती.

नवदीप सैनी

तेज गेंदबाज शार्दुल ठाकुर की जगह ऑकलैंड में नवदीप सैनी को मौका मिल सकता है. शार्दुल पहले वनडे में बेहद महंग साबित हुए थे. उन्हें खुद को साबित करने का मौका दिया गया है. पेसर जसप्रीत बुमराह भारतीय तेज आक्रमण की अगुआई करेंगे.