Steve Smith looking forward to eight Tests in sub-continent

ऑस्ट्रेलिया के स्टार बल्लेबाज स्टीव स्मिथ भारत के खिलाफ चार टेस्ट मैच सहित भारतीय उपमहाद्वीप में खेले जाने वाले इस प्रारूप के आठ मैचों के दौरान ‘शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक’ रूप से संघर्ष करने के लिए तैयार हैं. कोविड-19 महामारी के कारण पिछले भविष्य दौरा कार्यक्रम के मुताबिक ऑस्ट्रेलियाई टीम विदेशी सरजमीं पर सिर्फ इंग्लैंड के खिलाफ एशेज श्रृंखला खेल पायी थी. बांग्लादेश और दक्षिण अफ्रीका का उसका दौरा रद्द हो गया था.

भविष्य के दौरा कार्यक्रम के अगले चक्र में उसे विदेशी दौरे पर भारत के खिलाफ चार जबकि पाकिस्तान और श्रीलंका के खिलाफ दो-दो टेस्ट मैच खेलने हैं. टीम को इसके साथ ही 10 टेस्ट मैचों की मेजबानी भी करनी है.

स्मिथ ने क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू से कहा, ‘‘मैंने भविष्य का दौरा कार्यक्रम को देखा है और यह काफी व्यस्त है, इसमें काफी कुछ है. जाहिर तौर पर एशेज और फिर उपमहाद्वीप के दौरे हैं, जो विशेष रूप से टेस्ट क्रिकेट में आपको शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक रूप से चुनौती पेश करेंगे.’’

उन्होंने कहा, ‘‘इसमें अच्छे दौरे है और एक खिलाड़ी के रूप में यह वास्तव में आपकी कड़ी परीक्षा लेगा. मैं निश्चित रूप से उसका इंतजार कर रहा हूं. मुझे लगता है (डब्ल्यूटीसी) एक बहुत अच्छी अवधारणा है. इससे आप हर मुकाबले को अधिक प्रासंगिक बनाते हैं. मुझे लगता है कि यह बहुत अच्छा है. हम वहां (डब्ल्यूटीसी फाइनल में) नहीं होने से बहुत निराश थे.’’ ऑस्ट्रेलिया के मौजूदा बल्लेबाजों में सिर्फ स्मिथ और डेविड वार्नर ने ही एशिया में शतक लगाये हैं.