×

धोनी की तारीफ में रैना ने पढ़े कसीदे, बताया नेट्स का सबसे खतरनाक गेंदबाज

. रैना और धोनी लंबे समय तक भारतीय टीम और IPL में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए साथ खेले.

Dhoni

Screengrab (@cricketaakash)

भारत के पूर्व बल्लेबाज सुरेश रैना ने दावा किया है कि उन्होंने जितने भी गेंदबाजों का नेट्स पर सामना किया उन सबमें एमएस धोनी को खेलना सबसे मुश्किल था. रैना और धोनी लंबे समय तक भारतीय टीम और IPL में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए साथ खेले. यही वजह है कि दोनों के बीच क्रिकेट के मैदान के बाहर भी एक खास रिश्ता है.

धोनी के नाम वनडे मैचों में एक विकेट है और उन्होंने टेस्ट में 96 गेंदें फेंकी लेकिन कोई विकेट हासिल नहीं कर सके. टेस्ट में धोनी ने केविन पीटरसन का विकेट लगभग चटका ही दिया था लेकिन थर्ड अंपायर ने नॉट आउट करार दे दिया. इस घटना को लेकर आज भी केविन पीटरसन भारतीय क्रिकेटरों के साथ सोशल मीडिया पर मजेदार नोंकझोंक करते नजर आते हैं.

इस बीच रैना ने खुलासा किया है कि पूर्व भारतीय कप्तान धोनी नेट्स पर सबसे मुश्किल गेंदबाज थे. JioCinema पर होम ऑफ हीरोज शो में रैना से जब पूछा गया कि उनके लिए कौन से गेंदबाज को खेलना सबसे कठिन था तो उन्होंने कहा कि नेट्स में धोनी का सामना करना सबसे मुश्किल था.

रैना ने कहा कि अगर आपको सीएसके कप्तान कभी आउट कर देते तो वह कई दिनों तक आपका मजाक उड़ाते और ऑफ-स्पिन से लेकर मीडियम पेस तक कई तरह की गेंदें फेंकते थे. रैना ने यह भी कहा कि अगर धोनी को टेस्ट मैच में गेंदबाजी करने का मौका मिलता, तो वह इसे लेने के लिए तैयार रहते और इंग्लैंड में गेंद को अच्छी तरह स्विंग भी करा लेते थे.

रैना ने कहा, “मुझे लगता है कि मुरलीधरन और मलिंगा का सामना करना सबसे मुश्किल था, लेकिन नेट्स में यह एमएस धोनी थे. अगर उसने आपको नेट्स में आउट कर दिया, तो आप उसके साथ डेढ़ महीने तक नहीं बैठ पाएंगे क्योंकि वह इशारे करता रहेगा और याद दिलाएगा कि उसने आपको कैसे आउट किया. वह ऑफ-स्पिन, मीडियम पेस, लेग स्पिन और हर तरह की गेंदबाजी करता था. नेट्स में, वह अपने फ्रंट फुट नो-बॉल को भी सही ठहराते थे (हंसते हुए). टेस्ट मैच में जहां भी उसे लाल बॉल मिली, वह उसके लिए गया.”

trending this week