क्रिकेट इतिहास में टेस्ट के बाद वनडे फॉर्मेट की शुरुआत हुई, जिसके बाद T20 विश्व कप ने फैंस का जमकर मनोरंजन किया. अब T10 क्रिकेट ने खेल को इस तरह बदल दिया है, जिसने वेस्टइंडीज के विस्फोटक बल्लेबाज क्रिस गेल (Chris Gayle) को चिंतित कर दिया है. गेल ने आधुनिक युग के सलामी बल्लेबाजों की आलोचना की है. इस दिग्गज क्रिकेटर के मुताबिक टी20 क्रिकेट में पॉवरप्ले में सतर्कता भरा रवैया अपनाकर इस प्रारूप के रोमांच को खत्म कर रहे हैं. टी10 विस्फोटक बल्लेबाजी में नये मानक स्थापित कर रहा है.

क्रिस गेल ने कहा, ‘‘मुझे लगता है कि टी10 क्रिकेट की तरह ही टी20 क्रिकेट शुरू हुआ था. पहले ओवर से ही बल्लेबाज ताबड़तोड़ बल्लेबाजी शुरू कर देते थे लेकिन टी20 क्रिकेट अचानक से धीमा हो गया और अब टी10 क्रिकेट ने थोड़े मानक स्थापित किए हैं. ’’

उन्होंने कहा, ‘‘वे टी20 क्रिकेट में मनोरंजन को खत्म कर रहे हैं क्योंकि पहले छह ओवरों में हम बतौर सलामी बल्लेबाज काफी रन जुटा सकते हैं, लेकिन खिलाड़ी अपना समय ले रहे हैं.’’

विस्फोटक शैली के बल्लेबाज क्रिस गेल: बाएं हाथ के बल्लेबाज क्रिस गेल ने 103 टेस्ट मैचों की 182 पारियों में 11 बार नाबाद रहते हुए 7215 रन बनाए हैं. इस दौरान गेल ने 15 शतक, 3 दोहरे शतक और 37 अर्धशतक जड़े. गेल का टेस्ट में सर्वाधिक स्कोर 333 रहा है. वहीं 301 वनडे मुकाबलों में गेल ने 87.2 के स्ट्राइक से 10480 रन बनाए. इस दौरान गेल के बल्ले से 25 सेंचुरी, 54 फिफ्टी और 1 डबल सेंचुरी निकली.

टी20 क्रिकेट में आक्रामक अंदाज: गेल ने 79 टी20 मुकाबलों में 2 शतक और 14 अर्धशतक की मदद से 1899 रन बनाए. बात अगर 142 आईपीएल मैचों की करें, तो इसमें यह धाकड़ बल्लेबाज 6 सेंचुरी और 31 फिफ्टी की मदद से 4965 रन बना चुका है.