To say that nobody held Virat Kohli responsible for World Cup loss would be incorrect: Vinod Rai
विराट कोहली (IANS)

दिग्गज भारतीय स्पिनर अनिल कुबंले के भारतीय क्रिकेट टीम के कोच पद से इस्तीफा देने के बाद से टीम के बड़े फैसलों कप्तान की भूमिका और अधिकारों को लेकर काफी चर्चा हुई। कई लोगों की राय है कि विराट कोहली को टीम के लिए सारे फैसले लेने की पूरी आजादी है और कुंबले की जगह रवि शास्त्री की नियुक्त कप्तान की मर्जी से हुई। हालांकि प्रशासकों की समिति के प्रमुख विनोद राय ने इससे इंकार किया।

इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में राय ने बताया कि कुंबले के कॉन्ट्रेक्ट को आगे ना बढ़ा पाने की वजह तकनीकि थी। उन्होंने कहा, “कुंबले के कॉन्ट्रेक्ट में अनुबंध आगे बढ़ाने का विकल्प नहीं था। जो मुद्दा सामने आया वो ड्रेसिंग रूम का नहीं था….. अगर कुंबले के कार्यकाल को आगे बढ़ाना है तो हम ये कैसे करेंगे? मैं उनका कॉन्ट्रेक्ट आगे बढ़ाने के पक्ष में था, अगर समिति इसे सही मानती। मैंने कहा कि हमें प्रक्रिया पूरी करनी चाहिए। और प्रक्रिया थी- आवेदन मांगना, इंटरव्यू करना और सही शख्स को चुनना। आप मुझे अज्ञानी कह सकते हैं, लेकिन उस समय मुझे नहीं पता था कि कप्तान और कोच के बीच क्या हुआ था।”

नवंबर तक भारतीय जर्सी में नहीं दिखेंगे महेंद्र सिंह धोनी

राय की अध्यक्षता वाली समिति पर एक आरोप ये भी था कि उन्होंने विश्व कप सेमीफाइनल में हार के बाद टीम के प्रदर्शन और कोहली की कप्तानी की समीक्षा के लिए किसी तरह की बैठक का आयोजन नहीं किया। इस पर उन्होंने कहा, “जब कोई टीम बुरा प्रदर्शन करती है, तो मुझे नहीं लगता कि सारी जिम्मेदारी कप्तान की होती है। बंद दरवाजों के पीछे कई सारी चर्चाएं होती हैं। ये कहना कि विश्व कप हार के लिए किसी ने भी कोहली को जिम्मेदार नहीं ठहराया गलत होगा।”

राय ने बतौर कोच शास्त्री के काम की तारीफ की। उन्होंने कहा, “मुझे नहीं पता कि कितने कोच शास्त्री से बेहतर होते लेकिन कम से कम वो टीम को हर मामले में फिट, लड़ाई के लिए तैयार और एकजुट रखने में कामयाब रहा। इसलिए मुझे लगता है कि एक कोच के रूप में उन्होंने बहुत अच्छा प्रदर्शन किया।”