Unfortunate Umesh Yadav didn’t Play Much Overseas, says bowling coach Bharat Arun
KL-Rahul-Umesh-yadav © Getty Image (file photo)

भारतीय क्रिकेट टीम के गेंदबाजी कोच भरत अरुण ने सलामी बल्‍लेबाज लोकेश राहुल  को ‘असाधारण प्रतिभा’ करार दिया है।

भरत अरुण ने कहा है कि उनके साथ बरकरार रहने की जरूरत है लेकिन एक बार विफलता के बाद बार-बार टीम से बाहर कर दिए जाने वाले तेज गेंदबाज उमेश यादव ‘दुर्भाग्यशाली’ खिलाड़ी हैं।

पिछली 16 टेस्ट पारियों में 14 विफलताओं के बावजूद राहुल को ऑस्‍ट्रेलिया में होने वाली टेस्ट सीरीज को देखते हुए वेस्टइंडीज के खिलाफ दूसरे टेस्ट में एक और मौका मिल सकता है जबकि जसप्रीत बुमराह और इशांत शर्मा के लौटने पर उमेश को बाहर होना पड़ सकता है।

दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में उमेश के एक-एक टेस्ट के संदर्भ में अरुण ने कहा, ‘ यह दुर्भाग्यशाली है कि उमेश को दक्षिण अफ्रीका और इंग्लैंड में अधिक खेलने का मौका नहीं मिला। इसका कारण यह है कि जो गेंदबाज खेले उन्होंने शानदार प्रदर्शन किया।’

उमेश ने हालांकि इन दो दौरों से पहले भारतीय सरजमीं पर विकेटों के मददगार नहीं होने के बावजूद अच्छा प्रदर्शन किया था।

अरुण ने कहा, ‘ हम उमेश को ऐसे गेंदबाज के रूप में देखते हैं जो तेज गति से गेंद कर सकता है। हमारे पास गेंदबाजों को रोटेट करने की प्रणाली भी है जिससे कि वे तरोताजा रहें और उमेश इसका हिस्सा हैं।’

‘राहुल को लंबी रेस के घोड़े के तौर पर देखा जा रहा है’

केएल राहुल के लगातार कम स्कोर के बारे में पूछने पर कोच ने संकेत दिए कि उन्हें लंबी रेस के घोड़े के तौर पर देखा जा रहा है।

अरुण ने कहा, ‘ तकनीकी कमजोरी जैसा कि आप लोग समझते हैं, मुझे इसके बारे में नहीं पता लेकिन रवि शास्त्री और संजय बांगड़ ने उससे बात की है।’

उन्होंने कहा, ‘ एक कोच के रूप में मुझे लगता है कि राहुल असाधारण खिलाड़ी है जिसमें असाधारण प्रतिभा है जिसके साथ बरकरार रहना चाहिए। (राहुल के रूप में) हमारे पास भविष्य के लिए बेहतरीन बल्लेबाज है।’

टीम प्रयोग के बारे में नहीं सोच रही

अरुण ने कहा कि टीम प्रयोग करने के बारे में नहीं सोच रही।

उन्होंने कहा, ‘ यह प्रयोग करने का सवाल नहीं है लेकिन हम जिस स्थिति में हैं उसे हमें मजबूत करना चाहिए। हम मैदान पर सर्वश्रेष्ठ टीम उतारना पसंद करेंगे और मेरा मानना है कि 16 खिलाड़ियों में से कोई भी खेल सकता है।’

पृथ्‍वी शॉ की तारीफ की

अरुण ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट में डेब्‍यू करते हुए शतक जड़ने वाले पृथ्वी शॉ की तारीफ की और कहा कि सर्वश्रेष्ठ चीज ये है कि टीम प्रत्येक मैच में नई प्रतिभा के साथ उतर रही है।

भारतीय गेंदबाजी कोच ने कहा, ‘ हम जो भी टेस्ट मैच खेल रहे हैं उसमें हम नए खिलाड़ियों के साथ उतर पा रहे हैं। जैसा कि पिछले मैच में पृथ्वी शॉ। रन से अधिक उसका पहला टेस्ट मैच खेलते हुए जिस तरह का जज्बा और धैर्य दिखाया वह शानदार रहा।’

‘पेसर सिराज तेजी से सीखने वाला खिलाड़ी’

स्थानीय खिलाड़ी मोहम्मद सिराज के डेब्‍यू को लेकर चर्चा चल रही है लेकिन अरुण ने कोई प्रतिबद्धता नहीं जताई।

अरुण ने हालांकि सिराज को तेजी से सीखने वाला खिलाड़ी करार दिया जिसे उन्होंने तब से निखारा जब वह है हैदराबाद की रणजी टीम के कोच थे।

इस बीच कप्तान विराट कोहली ने अभ्यास सत्र में हिस्सा नहीं लिया क्योंकि यह वैकल्पिक था।

(इनपुट-एजेंसी)