भारतीय दिग्गज विराट कोहली (Virat Kohli) के पिछले महीने अचानक टेस्ट टीम की कप्तानी छोड़ने का ऐलान करने से टीम इंडिया के पूर्व तेज गेंदबाज कोच भरत अरुण (Bharat Arun) भी हैरान हुए। उनका कहना है कि कोहली हमेशा टेस्ट क्रिकेट को लेकर भावुक थे। अरुण को उम्मीद थी कि कोहली अगले दो सालों तक भारतीय टीम की कप्तानी कर सकते हैं।

News9 से बात करते हुए, अरुण ने कहा, “मैं निजी तौर पर हैरान था कि विराट ने कप्तानी छोड़ दी थी क्योंकि हर बार जब हमारी बात होती थी तो वो देश का नेतृत्व करने के लिए इतने भावुक थे। वो चाहते थे कि भारत दुनिया में एक प्रमुख शक्ति बने और मुझे लगा कि उसने एक अद्भुत नींव रखी है। मुझे व्यक्तिगत रूप से लगता है कि विराट के पास देश की कप्तानी करने के लिए कम से कम दो साल का समय था।”

अरुण ने भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान के काम को भारत के प्रधान मंत्री के बादल अगला “सबसे महत्वपूर्ण काम” कहा। साथ ही अरुण ने महेंद्र सिंह धोनी (MS Dhoni) की कप्तानी और खेल की समझ की भी सराहना की।

उन्होंने कहा, “मैंने एमएस धोनी को देखा, जो आपका अब तक का सबसे अच्छा दिमाग हो सकता है। कुछ भी उसे परेशान नहीं करना था। अगर आपके पास शांत और गणनात्मक दिमाग है … चलते-फिरते फैसला लेने के लिए ये सबसे अच्छी स्थिति है, क्योंकि फैसले गतिशील होने चाहिए। आप चलते-फिरते फैसला ले रहे हैं। प्रधान मंत्री के बाद, भारतीय कप्तान देश में सबसे महत्वपूर्ण काम है, इसलिए मुझे लगता है कि ऐसा कोई है जो दबाव ले सकता है [सही फिट है], ”

कोहली ने यूएई में 2021 विश्व टी20 विश्व कप के ग्रुप स्टेज से बाहर होने बाद टी20 अंतरराष्ट्रीय फॉर्मेट की कप्तानी से इस्तीफा दे दिया था और एक महीने बाद बीसीसीआई ने उन्हें वनडे कप्तानी से हटा दिया गया था।

जिसके बाद भारतीय क्रिकेट में एक कोहली और बीसीसीआई के बीच एक अंतर्निहित मुद्दे को उजागर किया गया था। बाद में जनवरी में, भारत के दक्षिण अफ्रीका में टेस्ट सीरीज़ हारने के एक दिन बाद, कोहली ने ट्विटर पर घोषणा की कि वो टेस्ट कप्तानी से हट रहे हैं।