विराट कोहली © AFP
विराट कोहली © AFP

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली सैलरी के मुद्दे पर बीसीसीआई से नाराज हैं। खबरे हैं कि दोगुनी सैलरी बढ़ने के बावजूद विराट कोहली नाखुश हैं और उन्होंने बीसीसीआई से 5 करोड़ रु. सालाना सैलरी की मांग की है। सूत्रों की मानें तो विराट ने प्रशासकों की समिति(सीओए) से ग्रेड ए के खिलाड़ियों को कम से कम 5 करोड़ रुपये, ग्रेड बी के खिलाड़ियों को 3 करोड़ रुपये और ग्रेड सी के खिलाड़ियों को 1.5 करोड़ सालाना देने की मांग की है।

विराट कोहली का मानना है कि दुनिया का सबसे अमीर बोर्ड होने के बावजूद बीसीसीआई खिलाड़ियों को बेहद ही कम सैलरी दे रही है। भारतीय खिलाड़ियों से ज्यादा सैलरी द.अफ्रीका,ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के खिलाड़ियों को मिलती है। उऩकी सालाना सैलरी लगभग 10 से 12 करोड़ रु. है।  आपको बता दें भारतीय कोच अनिल कुंबले और टीम इंडिया के पूर्व डायरेक्टर रवि शास्त्री ने भी विराट कोहली का समर्थन किया है। रवि शास्त्री ने कहा ‘बीसीसीआई का मुनाफा दुनिया में सबसे ज्यादा है ऐसे में जो सैलरी भारतीय क्रिकेटर्स को मिलती है वो वाकई बेहद कम है। ग्रेड ए के टेस्ट खिलाड़ी की सैलरी तो सबसे ज्यादा होनी चाहिए। जैसे कि चेतेश्वर पुजारा को सबसे ज्यादा सैलरी मिलनी चाहिए ताकि उन्हें आईपीएल में ना चुने जाने पर घाटा महसूस ना हो। ‘

कप्तान विराट कोहली, दूसरे खिलाड़ियों और कोच अनिल कुंबले की मांग पर प्रशासकों की समिति (सीओए) 5 अप्रैल की बैठक में विचार कर सकती है। ये देखना बेहद दिलचस्प होगा कि ये समिति क्या फैसला लेती है, वैसे समिति ने खिलाड़ियों से सैलरी मुद्दे पर आईपीएल के खत्म होने का इंतजार करने को कहा है।