भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच खेले जा रहे केपटाउन टेस्ट मैच के दौरान मेजबान टीम के कप्तान डीन एल्गर (Dean Elgar) के विकेट लेकर बहस छिड़ी हुई है। मैच के तीसरे दिन टीम इंडिया विकेट की तलाश में थी जब रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashin) ने एल्गर को LBW आउट किया लेकिन विपक्षी कप्तान ने डीआरएस की मदद से फैसले को पलटा। कई फैंस ने इसकी तुलना साल 2011 विश्व कप सेमीफाइनल के दौरान सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के विकेट से की।

भारत में आयोजित 2011 विश्व कप सेमीफाइनल मैच के दौरान पाकिस्तान के सईद अजमल (Saeed Ajmal) ने तेंदुलकर को एलबीडब्ल्यू आउट किया था लेकिन भारतीय बल्लेबाज ने डीआरएस की मदद से इस फैसले को पलटा था क्योंकि गेंद और विकेट के बीच का संपर्क 50 प्रतिशत भी नहीं था।

ऐसा ही कुछ केपटाउन टेस्ट में हुआ जब एल्गर ने DRS लिया। रीप्ले में दिखा कि गेंद की ऊंचाई इतनी थी कि वो स्टंप को मिस करते हुए जाती। जिसके बाद फील्ड अंपायर को अपना फैसला बदलना पड़ा। जिससे भारतीय कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) बेहद नाराज हुए।

कोहली ने अपना गुस्सा टीवी कैमरा टीम पर निकाला जो कि स्टंप माइक में कैद हो गया। तीसरे अंपायर का फैसला आने के बाद कोहली बैटिंग स्टंप्स के पास गए और कहा ‘अपनी टीम पर भी ध्यान दो, ना कि केवल विपक्षी टीम पर’। अब इसे लेकर भारतीय कप्तान की आलोचना की जा रही है। वहीं कई फैंस इसे टीवी अंपायर की गलती बता रहे हैं।