×

शेष भारत ने गुजरात को 6 विकेट से हराकर ईरानी कप का खिताब जीता

शेष भारत की तरफ से रिद्धिमान साहा ने बेहतरीन दोहरा शतक लगाया

रिद्धिमान साहा ने शानदार दोहरा शतक लगाया © AFP
रिद्धिमान साहा ने शानदार दोहरा शतक लगाया © AFP

ईरानी कप में गुजरात बनाम शेष भारत के बीच खेला गया मुकाबला शेष भारत ने अपने नाम कर लिया। शेष भारत ने गुजरात को 6 विकेट से हराकर खिताब अपने नाम किया। गुजरात के कप्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। लेकिन गुतजार की शुरुआत बेहद खराब रही और टीम का पहला विकेट मात्र शून्य पर ही गिर गया। लेकिन इसके बाद पांचाल और ध्रुव रावल ने पारी को संभालने की कोशिश की और टीम के स्कोर को 50 के पार ले गए। लेकिन गुजरात के विकेट लगातार अंतराल में गिरते रहे और टीम के बल्लेबाज संघर्ष करते नजर आए। लेकिन एक छोर पर चिराग गांधी ने बेहतरीन बल्लेबाजी की और शानदार शतक लगा दिया। गांधी के शतक की दम पर गुजरात ने पहली पारी में 358 रनों की सम्मानजनक स्कोर बनाया।

जवाब में बल्लेबाजी के लिए उतरी शेष भारत की टीम की भी शुरुआत भी खराब रही और पहला विकेट 21 रनों पर ही गिर गया। हालांकि इसके बाद चेतेश्वर पुजारा और अखिल ने टीम को संभाला और स्कोर को 50 रनों के पार ले गए। लेकिन गुजरात के गेंदबाजों ने एक बार फिर से वापसी की और अखिल को आउट कर गुजरात को दूसरी सफलता दिला दी। इसके बाद पुजारा को छोड़कर कोई अन्य बल्लेबाज टिक नहीं सका और शेष भारत की पहली पारी मात्र 226 रनों पर ही ढेर हो गई। पहली पारी के आदार पर गुजरात ने अच्छी-खासी बढ़क हासिल कर ली थी। दूसरी पारी में बल्लेबाजी के लिए उतरी गुजरात की शुरुआत फिर से खराब रही और पहला विकेट 4 रनों पर ही गिर गया। लेकिन पांचाल के 73 और चिराग गांधी के 70 रनों की बदौलत गुजरात ने दूसरी पारी में 246 रन बनाए।  ये भी पढ़ें: ईरानी कप में दोहरा शतक जड़ने वाले पहले विकेटकीपर बल्लेबाज बने रिद्धिमान साहा

अब शेष भारत को मैच जीतने के लिए उनके बल्लेबाजों का चलना बेहद जरूरी था। हालांकि टीम के 4 विकेट मात्र 63 रनों पर ही गिर गए और शेष भारत पर हार का खतरा मंडराने लगा। लेकिन भारत के स्टार बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा और रिद्धिमान साहा ने पारी को संभाल लिया और बेहतरीन बल्लेबाजी करते हुए गुजरात के गेंदबाजों को जमकर छकाया। दोनों ने शेष भारत की उम्मीदों को फिर से जिंदा कर दिया और टीम को जीत की राह पर ले आए। देखते ही देखते दोनों ही बल्लेबाजों ने अपना-अपना शतक पूरा कर लिया। साहा यहीं नहीं रुके और उन्होंने बेहतरीन खेल दिखाते हुए अपना दोहरा शतक भी ठोक दिया और टीम को जीत दिला दी।

trending this week