×

यशस्वी जायसवाल ने रचा इतिहास, सचिन-गावस्कर जैसे बल्लेबाज भी नहीं कर सके थे यह कारनामा

उन्होंने 15 फर्स्ट क्लास मैच में 71 से ज्यादा की औसत से 1800 से ज्यादा रन बनाए हैं. उनके नाम नौ शतक और दो अर्धशतक है.

Yashasvi Jaiswal

Yashasvi Jaiswal (Photo-twitter)

रेस्ट ऑफ इंडिया की तरफ से खेलते हुए यशस्वी जायसवाल ने ईरानी कप में इतिहास रच दिया है. 21 साल के यशस्वी जायसवाल ने मध्य प्रदेश के खिलाफ दूसरी इनिंग में शतक लगाया. जायसवाल के इस मैच की पहली इनिंग में दोहरा शतक लगाया था. ईरानी कप में पहली इनिंग में दोहरा और दूसरी इनिंग में शतक लगाकर जायसवाल ने इतिहास रच दिया है. यह कारनामा करने वाले वह पहले बल्लेबाज बन गए हैं. टूर्नामेंट के करीब 61 साल के इतिहास में इससे पहले ऐसा नहीं हुआ था.

इससे पहले ऐसा कभी नहीं हुआ था जब ईरानी कप में किसी बल्लेबाज ने एक इनिंग में दोहरा और दूसरी इनिंग में शतक जड़ा है. सचिन तेंदुलकर और सुनील गावस्कर जैसे बल्लेबाज भी यह कारनामा नहीं कर सके थे. शिखर धवन के नाम ईरानी ट्रॉफी मैच की दोनों पारियों में शतक बनाने का रिकॉर्ड है. धवन ने यह कारनामा साल 2011 में राजस्थान के खिलाफ किया था. उन्होंने पहली पारी में 177 रन और दूसरी पारी में 155 रन बनाए थे. साल 2019 में हनुमा विहारी ने भी पारी की दोनों इनिंग में शतक जड़ा था. हनुमा विहारी ने विदर्भ के खिलाफ पहली पारी में 114 और दूसरी पारी में 110 रन बनाए थे.

यशस्वी जायसवाल की इस पारी से रेस्ट ऑफ इंडिया ने मध्य प्रदेश के खिलाफ मैच में शिकंजा कस लिया है. रेस्ट ऑफ इंडिया ने पहली पारी में 484 रन बनाए थे, जिसके जवाब में मध्य प्रदेश की टीम पहली पारी में सिर्फ 294 रन ही बना सकी. दूसरी पारी में रेस्ट ऑफ इंडिया ने खेल के चौथे दिन लंच तक सात विकेट पर 201 रन बना लिए हैं. यशस्वी जायसवाल 121 रन और पुलकित नारंग एक रन बनाकर नाबाद हैं. रेस्ट ऑफ इंडिया की कुल लीड 391 रन की हो चुकी है.

टीम इंडिया के लिए की दावेदारी:

21 साल के यशस्वी जायसवाल ने 15 फर्स्ट क्लास मैच में 71 से ज्यादा की औसत से 1800 से ज्यादा रन बनाए हैं. उनके नाम नौ शतक और दो अर्धशतक है. इस बल्लेबाज ने अपनी एक और शानदार पारी से टीम इंडिया में चयन के लिए अपना दावा ठोका है.

trending this week