यूनिस खान © Getty Images
यूनिस खान © Getty Images

पाकिस्तान भले ही ऑस्ट्रेलिया दौरे पर संघर्ष कर रही हो लेकिन टीम के सबसे बुजुर्ग क्रिकेटरों में से एक यूनिस खान लगातार अच्छा कर रहे हैं। इसी शानदार प्रदर्शन को जारी रखते हुए यूनुस खान ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच में शतक ठोक डाला। दिन का खेल खत्म होने तक वह 136 रनों पर नाबाद थे। शतक लगाने के साथ ही उन्होंने इतिहास के सुनहरे पन्नों में अपना नाम दर्ज करवा लिया। शतक लगाते ही उन्होंने ऐसे कारनामे को अंजाम दे दिया जो आज तक कोई नहीं कर पाया।

दरअसल, यूनिस खान ऑस्ट्रेलिया की धर्ती पर शतक लगाते ही दुनिया के ऐसे पहले क्रिकेटर बन गए जिन्होंने टेस्ट की मेजबानी करने वाले हर देश के खिलाफ शतक लगाया हो। यूनुस ने ये उपलब्धि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शतक लगाकर दर्ज की। यूनुस खान ने अपने करियर में ऑस्ट्रेलिया की धर्ती पर 1, बांग्लादेश में 3, इंग्लैंड में 2, भारत में 3, न्यूजीलैंड में 1, पाकिस्तान में 7, दक्षिण अफ्रीका में 1, श्रीलंका में 3, यूएई में 11, वेस्टइंडीज में 1 और जिम्बाब्वे में एक शतक लगाया है। इसके साथ ही यूनुस ऐसा करने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बन गए।  ये भी पढ़ें: बतौर कप्तान टीम इंडिया में महेंद्र सिंह धोनी का ‘सफरनामा’

आपको बता दें कि राहुल द्रविड़ सभी 10 टेस्ट खेलने वाले देशों में शतक लगा चुके हैं लेकिन द्रविड़ कभी यूएई में टेस्ट मैच नहीं खेले हैं। वहीं मोहम्मद यूसुफ, कुमार संगकारा और महेला जयवर्द्धने ने भी 10-10 देशों में शतकीय पारी खेलीं हैं। फिलहाल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पाकिस्तान की टीम पहले दोनों मैच हार चुकी है और तीसरे टेस्ट को जीतकर अपनी खोई प्रतिष्ठा बचाने की कवायद में जुटी है।