जीत के खुमार में डूबी वेस्टइंडीज टीम  © Getty Images
जीत के खुमार में डूबी वेस्टइंडीज टीम © Getty Images

रविवार को ईडेन गार्डन के ऐतिहासिक मैदान पर खेले गए टी20 विश्व कप 2016 के फाइनल में वेस्टइंडीज ने इंग्लैंड को एक करीबी मुकाबले में 4 विकेट से हराकर टी20 विश्व कप खिताब दूसरी बार अपने नाम कर लिया। इसके साथ ही वेस्टइंडीज दुनिया की ऐसी पहली टीम  बन गई जिसने यह टाइटल दो बार जीता है। वेस्टइंडीज के अलावा भारत(2007), पाकिस्तान(2009), इंग्लैंड(2010) और श्रीलंका(2014) ने इस खिताब को जीता है। वहीं इसके पहले वेस्टइंडीज ने यह खिताब साल 2012 में जीता था।  वेस्टइंडीज की इस अप्रत्याशित जीत को लेकर एक शब्द जुबान पर जुगाली मार  रहा है वो है कि क्रिकेट अनिश्चितताओं का खेल है और यहां अगले पल क्या हो जाए कुछ नहीं कहा जा सकता। वेस्टइंडीज बनाम इंग्लैंड, फाइनल, आईसीसी टी20 विश्व कप 2016 स्कोरकार्ड देखने के लिए क्लिक करें

अब इस फाइनल मैच को ही ले लीजिए। जब 18वां ओवर खत्म हुआ तो वेस्टइंडीज को जीतने के लिए अगली 12 गेंदों में 27 रनों की दरकार थी, लेकिन जॉर्डन ने बेहतरीन गेंदबाजी का मुजाहिरा पेश किया और अपने ओवर में कुल 8 रन खर्च करते हुए विपक्षी टीम को मैच  से लगभग बाहर कर दिया। अब वेस्टइंडीज को अंतिम ओवर में जीतने के लिए 19 रनों  की दरकार थी जो कतई आसान नहीं दिख रहे थे। अंतिम ओवर बेन स्टोक्स फेंकने आए। सामने थे बल्लेबाज ब्रेथवेट। ब्रेथवेट ने पहली ही गेंद पर डीप बैकवर्ड स्कवेयर लेग का छक्का जड़ दिया। यह छक्का पड़ने के बाद तो जैसे वेस्टइंडीज टीम में जान आ गई और मैदान के भीतर व बाहर जश्न का माहौल बनने लगा।

अगली गेंद पर ब्रेथवेट ने लॉन्ग ऑन के ऊपर से छक्का जड़ दिया। ब्रेथवेट के शॉट्स को देखकर ऐसा लग रहा था कि जैसे छक्के लगाने की कला में इनसे माहिर कोई हो ही नहीं सकता। तीसरी गेंद का भी वही हश्र हुआ और गेंद फिर से सीमा रेखा के ऊपर से उड़ती हुई छक्के के लिए चली गई। इन शॉट्स ने बेन स्टोक्स को भीतर से तोड़ दिया और वे मैदान में बैठकर रूबासे हो गए। लेकिन अभी तो शो बाकी था और चौथी गेंद पर छक्का जड़ते हुए उसकी कसर ब्रेथवेट ने पूरी कर दी और इस तरह वेस्टइंडीज ने इस बड़े मुकाबले में इंग्लैंड को 4 विकेट से हराकर दूसरी बार खिताब जीत लिया। जाहिर है इस फाइनल को कुछ सदियों  तक ब्रेथवेट की आतिशी पारी के लिए याद किया जाएगा।