ICC World Cup 2019, Team Profile: Know India’s 15 men Squad

1983 और 2011 विश्व कप में जीत हासिल करने के बाद भारतीय टीम विराट कोहली की अगुवाई में तीसरे विश्व कप खिताब की तलाश में 23 मई को इंग्लैंड रवाना हो रही है। वनडे रैंकिंग में दूसरे नंबर पर मौजूद भारतीय टीम को सीमित ओवर फॉर्मेट में मिली हालिया सफलता को देखते हुए टीम इंडिया को खिताब की प्रबल दावेदार माना जा रहा है। 30 मई को शुरू होने वाले इस आईसीसी टूर्नामेंट से पहले भारतीय विश्व कप स्क्वाड पर एक नजर डालते हैं।

प्रमुख बल्लेबाज:

विश्व कप में भारतीय टीम की बल्लेबाजी मुख्य रूप से रोहित शर्मा, शिखर धवन और कप्तान विराट कोहली पर निर्भर रहेगी। भारतीय शीर्ष क्रम के ये तीनों खिलाड़ी टीम इंडिया के तीन स्तंभ हैं। रोहित-धवन और कोहली तीनों ही बल्लेबाजों को इंग्लैंड में खेलने का अच्छा खासा अनुभव है।

200 से ज्यादा वनडे मैच खेल चुके रोहित शर्मा ने इंग्लैंड की जमीन पर खेले 15 मैचों में 57.25 की शानदार औसत से 687 रन बनाए हैं। वहीं कप्तान कोहली ने इंग्लैंड में 22 मैच खेलकर 873 रन बनाए हैं और उनका औसत 54.56 का है। सलामी बल्लेबाज धवन का इंग्लैंड में औसत (65.06) रोहित और कोहली दोनों से ज्यादा है। धवन ने 17 मैचों में कुल 976 रन बनाए हैं जो कि बाकी दोनों से ज्यादा हैं।

इन तीन दिग्गजों के अलावा भारतीय स्क्वाड में केएल राहुल एक अतिरिक्त शीर्ष क्रम बल्लेबाज के रूप में मौजूद हैं। राहुल हाल ही में आईपीएल के दौरान जबरदस्त फॉर्म में नजर आए थे। हालांकि राहुल के पास इंग्लैंड में खेलने के खास अनुभव नहीं है लेकिन अतिरिक्त बल्लेबाज की जरूरत पड़ने पर उन्हें मौका मिल सकता है।

विकेटकीपर बल्लेबाज:

टीम इंडिया के पास महेंद्र सिंह धोनी के रूप में एक अनुभवी विकेटकीपर बल्लेबाज है जो विकेटकीपिंग के अलावा कई और मायनों में टीम की मदद कर सकता है। धोनी के टीम में रहने से कप्तान कोहली को भी मदद मिलती है और स्पिन गेंदबाजों का काम भी आसान हो जाता है। धोनी को इंजरी होने या दूसरी किसी विपरीत परिस्थिति के लिए दिनेश कार्तिक स्क्वाड में बतौर अतिरिक्त विकेटकीपर बल्लेबाज मौजूद हैं। कार्तिक के पास भी इंग्लैंड में खेलने का अनुभव है।

ऑलराउंर/मध्यक्रम बल्लेबाज:

बीसीसीआई ने विश्व के लिए स्क्वाड का ऐलान करते समय जिस एक पक्ष पर सबसे ज्यादा ध्यान दिया वो है ऑलराउंडर खिलाड़ी। कई बल्लेबाजों (अंबाती रायडू, रिषभ पंत, श्रेयस अय्यर) को इसी वजह से मौका नहीं मिल सका क्योंकि ऑलराउंडर खिलाड़ी की काबिलियत उन पर भारी पड़ी। विश्व कप स्क्वाड में विजय शंकर, केदार जाधव जैसे बल्लेबाजी ऑलराउंडर हैं।

वहीं हार्दिक पांड्या और रविंद्र जडेजा जैसे ऑलराउंडर भी हैं जो पिंच हिटर का काम भी कर सकते हैं। पांड्या और शंकर तेज गेंदबाजी करते हैं जबकि जडेजा और जाधव स्पिनर्स हैं। हालांकि विश्व कप की प्लेइंग इलेवन में जडेजा को मौके मिलने की कम ही गुंजाइश है लेकिन शंकर, जाधव और हार्दिक जरूर आखिरी 11 में नजर आएंगे।

स्पिन गेंदबाज:

टीम इंडिया का स्पिन गेंदबाजी अटैक कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल के कंधों पर हैं। दोनों युवा रिस्ट स्पिनर्स का ये पहला विश्व कप है लेकिन सीमित ओवर फॉर्मेट में उनकी हालिया सफलता विपक्षी बल्लेबाजों की नींद उड़ाने के लिए काफी है।

चहल और कुलदीप को जाधव का साथ भी मिलेगा जो कि टीम इंडिया के प्रमुख पार्ट टाइम स्पिनर हैं। इंग्लैंड के हालातों में शायद ही टीम इंडिया एक मैच में तीन स्पिन गेंदबाजों को खिलाए लेकिन अगर स्थिति मांग करती है तो जडेजा भी स्पिन अटैक में नजर आ सकते हैं।

तेज गेंदबाज:

इंग्लैड में होने वाले विश्व कप में तेज गेंदबाज भारत का अहम हथियार होंगे। टीम इंडिया के लिए ये सोने पर सुहागा है कि अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे उनके पेसर्स जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी आईपीएल के दौरान ना केवल शानदार फॉर्म में नजर आए बल्कि किसी भी फिटनेस समस्या से नहीं जूझे। शमी, बुमराह और भुवी के अलावा विश्व कप स्क्वाड में पांड्या चौथे तेज गेंदबाजी विकल्प के रूप में मौजूद हैं।

भारत का विश्व कप स्क्वाड:

विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा (उप कप्तान), शिखर धवन, एमएस धोनी (विकेटकीपर), केदार जाधव, हार्दिक पांड्या, भुवनेश्वर कुमार, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, विजय शंकर, दिनेश कार्तिक, केएल राहुल, रवींद्र जडेजा।