(Image courtesy: IANS)
(Image courtesy: IANS)

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच पांच मैचों की वनडे सीरीज का तीसरा मैच रविवार को इंदौर में खेला जाएगा। टीम इंडिया सीरीज में पहले से ही 2-0 से बढ़त बनाए हुए है। ऐसे में इस मैच को जीतते हुए वह सीरीज में अजेय बढ़त बनाना चाहेगी। वहीं दूसरी ओर ऑस्ट्रेलिया टीम अपनी लगातार हार के सिलसिले को खत्म करना चाहेगी। ऑस्ट्रेलिया का इंदौर में यह पहला मैच होगा। ऐसे में इस मैदान पर उनका आगाज किस अंदाज में होता है यह देखना दिलचस्प होगा।

कोलकाता में दूसरा वनडे जीतने के साथ टीम इंडिया के वनडे में 119 रेटिंग अंक हो गए हैं और अब वह पहले नंबर पर काबिज दक्षिण अफ्रीका जिसके 119 रेटिंग अंक हैं, उससे कुछ दशमलव अंकों से पीछे है। ऐसे में अगर टीम इंडिया इंदौर वनडे जीत जाती है तो वनडे रैंकिंग में नंबर 1 बन जाएगी।

ऑस्ट्रेलिया टीम: मैच के एक दिन पहले हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में डेविड वॉर्नर ने इस ओर संकेत दिया है कि इंदौर वनडे में एरन फिंच की टीम में वापसी हो सकती थी। पहले दो वनडे मैचों में कार्टराइट 1-1 रन बनाने में ही कामयाब हुए। ऐसे में ऑस्ट्रेलियाई टीम में फिंच की वापसी बेहद जरूरी हो गई है। फिंच सीरीज के शुरुआत में चोटिल होने के कारण बाहर हो गए थे। इंदौर में फिंच ने खासा अभ्यास किया है। ऐसे में उनकी वापसी तय मानी जा रही है। ऐसे में ऑस्ट्रेलिया को मजबूत शुरुआत करने में मदद मिल सकती है। [ये भी पढ़ें: तीसरे वनडे में लौट रहा है ये तूफानी ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज, अब गेंदबाजों की खैर नहीं]

वॉर्नर का कहना है कि अगर उनकी टीम अच्छी शुरुआत करती है तो वह बीच के ओवरों में भारतीय स्पिनरों को संभाल सकते हैं। लेकिन सबसे ज्यादा जरूरी है कि शुरुआत अच्छी मिले। इसके अलावा ऑस्ट्रेलिया मिडिल ऑर्डर में एक और बड़ा बदलाव कर सकता है और वह है पीटर हैंड्सकॉम्ब को अंतिम एकादश में शामिल करने का। उन्हें ट्रैविस हेड की जगह टीम में शामिल किया जा सकता है।

क्योंकि हेड शुरुआती दोनों मैचों में कुछ खास नहीं कर सके हैं। लेकिन ये बदलाव होगा या नहीं इसके कम ही मौके दिखाई देते हैं। इसके अलावा ऑस्ट्रेलियाई टीम अन्य कोई बदलाव नहीं करना चाहेगी। दोनों मैचों में उनके गेंदबाजों ने कमाल की गेंदबाजी की है। पिछले मैच में उन्होंने केन रिचर्डसन को टीम में जगह दी थी और उन्होंने आते ही कमाल करते हुए 3 विकेट झटक डाले।

भले ही ऑस्ट्रेलिया ने इंदौर में कोई मैच न खेला हो लेकिन मौजूदा ऑस्ट्रेलिया टीम के कई खिलाड़ी यहां आईपीएल में खेल चुके हैं। ऐसे में उन्हें ज्यादा परेशानी नहीं होने वाली। हां ये कह सकते हैं कि जो अच्छा खेलेगा उसका पलड़ा भारी रहेगा।

पिछले पांच मैचों की ऑस्ट्रेलिया का प्रदर्शन: ऑस्ट्रेलिया ने पिछले 7 वनडे मैचों में जीत का मुंह नहीं देखा है। जाहिर है कि जब वे इस मैच में उतरेंगे तो अपनी हार का सिलसिल जरूर तोड़ना चाहेंगे।

ऑस्ट्रेलिया की संभावित प्लेइंग इलेवन: डेविड वॉर्नर, हिल्टन कार्टराइट/एरन फिंच, स्टीवन स्मिथ, पीटर हैंड्सकॉम्ब/ट्रेविस हेड, ग्लेन मैक्सवेल, मार्कस स्टोइनिस, मैथ्यू वेड (विकेटकीपर), पैट कमिंस, एश्टन एगर, नाथन कूल्टर नाइल, केन रिचर्डसन।

कैसी रहेगी पिच: मध्यप्रदेश क्रिकेट संघ (एमपीसीए) के क्यूरेटर समंदर सिंह चौहान ने ‘भाषा’ से कहा, ‘ये बल्लेबाजी के लिये अच्छी पिच होगी। मैं ये तो नहीं कह सकता कि कितना स्कोर होगा लेकिन ये बड़े स्कोर वाला मैच होगा। इसके साथ ही गेंदबाजों के लिये भी इसमें विकेट लेने के मौके होंगे।’ उन्होंने कहा, ‘पिच से कलाई के स्पिनरों को जरूर टर्न मिलेगा। भारत के लिये ये अच्छा है कि उसके पास कलाई के दो स्पिनर हैं।’

टीम इंडिया: टीम इंडिया अपने विनिंग कॉम्बिनेशन के साथ कोई छेड़छाड़ नहीं करना चाहेगी और वे एक बार फिर से उसी टीम के साथ उतरेंगे। लेकिन विराट कोहली अपने मध्यक्रम को लेकर खासे चिंतित होंगे। पिछले मैच में टीम इंडिया के आखिरी 7 विकेट 67 रनों पर गिर गए थे। पहले मैच में भी मध्यक्रम बुरी तरह से लड़खड़ा गया था और 87 रनों पर 5 विकेट गिर गए। दोनों मैचों में मनीष पांडे बुरी तरह से फेल रहे हैं और छोटे स्कोर पर आउट हुए हैं।

केदार जाधव ने शुरुआत तो अच्छी की है लेकिन वह बड़ा स्कोर खड़ा करने में कामयाब नहीं हो पाए। जाहिर है कि पांडे और जाधव दोनों अपनी कमियों को पाटते हुए अच्छा प्रदर्शन करना चाहेंगे क्योंकि अगर इस मैच में भी वे फेल हो गए तो उनकी टीम में पोजीशन पर खतरा उमड़ सकता है क्योंकि केएल राहुल पहले से इंतजार कर रहे हैं। वहीं एक बार फिर से भारतीय गेंदबाजों, खासकर फिरकी गेंदबाजों पर ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों के पैर उखाड़ने का दारोमदार होगा।

पिछले पांच मैचों में टीम इंडिया का प्रदर्शन: टीम इंडिया ने पिछले पांच के पांच मैचों में जीत दर्ज की है और इस तरह से उसके हौसले बुलंद हैं। टीम इंडिया अगर इंदौर वनडे जीत लेती है तो वह स्वतः वनडे में नंबर 1 टीम बन जाएगी। टीम इंडिया ने इंदौर के होल्कर मैदान पर अबतक 4 वनडे और 1 टेस्ट खेला है। उसे इनमें से किसी में भी हार का सामना नहीं करना पड़ा है। जाहिर है कि यह बात टीम इंडिया के पक्ष में जा रही है।

टीम इंडिया की संभावित प्लेइंग इलेवन: रोहित शर्मा, अजिंक्य रहाणे, विराट कोहली (कप्तान), मनीष पांडे, केदार जाधव, एमएस धोनी (विकेटकीपर), हार्दिक पांड्या, युजवेंद्र चहल, कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह।