LIVE Cricket Score, India vs New Zealand, India vs New Zealand live score, ind vs nz 4th ODI, ind vs nz live score, india vs New Zealand live streaming, India Vs New Zealand Highlights, India Zealand Ranchi
चौथे मुकाबले में भारत का कोई भी बल्लेबाज नहीं चला और टीम हार गई © IANS

भारत और न्यूजीलैंड के बीच खेले गए चौथे वनडे में न्यूजीलैंड की टीम ने भारत को 19 रनों से हरा दिया। इस जीत के साथ ही न्यूजीलैंड ने सीरीज को 2-2 की बराबरी पर ला दिया है। सीरीज का पांचवां और आखिरी मैच विशाखापट्नम में खेला जाएगा। धोनी के गृहनगर रांची में खेले गए चौथे मैच में न्यूजीलैंड की टीम ने भारत को चारों खाने चित कर दिया और भारत के आईसीसी रैंकिंग में नंबर तीन बनने के सपने पर भी पानी फेर दिया। चौथे वनडे की बात करें तो भारतीय टीम के कई खिलाड़ियों ने मैच में कुछ गलतियां कीं जिसकी वजह से भारतीय टीम को हार का मुंह देखना पड़ा। हम आपको बताएंगे मैच के उन्हीं विलेन से जिनकी वजह से भारतीय टीम को हार का मुंह देखना पड़ा। तो आइए नजर डालते हैं भारतीय टीम के उन पांच खिलाड़ियों पर जिनकी वजह से भारत को हार मिली और क्रिकेट प्रशंसक उन्हें विलेन मान रहे हैं।

5. अमित मिश्रा:

हालांकि अमित मिश्रा ने गेंदबाजी तो बहुत शानदार की, लेकिन अमित मिश्रा ने पूरी सीरीज में खामोश रहे न्यूजीलैंड के सलामी बल्लेबाज मार्टिन गप्टिल के 2 कैच छोड़े। मिश्रा ने गप्टिल का पहला कैच मैच के छठे ओवर में छोड़ा और दूसरा कैच मैच के 22वें ओवर में छोड़ा। साफ है दो मौके मिलने के बाद गप्टिल ने कीवी टीम के लिए सबसे ज्यादा रन बनाए और अर्धशथक जड़ा, अगर अमित मिश्रा छठे ओवर में गप्टिल का कैच लपक लेते तो मैच का नतीजा कुछ और हो सकता था। गप्टिल ने मिले मौकों का फायदा उठाते हुए 84 गेंदों में 72 रन बनाए।  ये भी पढ़ें: भले ही चौथा वनडे टीम इंडिया हार गई, लेकिन उभरकर आईं ये 3 अच्छी बातें

4. केदार जाधव:

टीम में हरफनमौला खिलाड़ी बनने की कोशिश कर रहे केदार जाधव ने चौथे मैच में बहुत निराश किया। जाधव ने पहले गेंदबाजी करते हुए 8 ओवरों में कोई विकेट नहीं लिया और फिर बल्लेबाजी में वह पहली ही गेंद पर पगबाधा आउट होकर टीम को मछधार में छोड़कर चले गए। जाधव ने सीरीज में गेंद से तो अच्छा कमाल दिखाया है लेकिन बल्ले से वह उतने प्रभावशाली नहीं रहे हैं। ऐसे में चौथे वनडे में जब टीम को उनसे अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद थी तो वह साऊदी के ओवर में पगबाधी आउट होकर पवेलियन लौट गए। जाधव ने चौथे मुकाबले में 1 गेंद में शून्य रन बनाए।

3. हार्दिक पंड्या:

भारत के महान हरफनमौला खिलाड़ी कपिल देव के हाथों वनडे कैप पाकर हार्दिक पंड्या फूले नहीं समा रहे थे, पंड्या ने पहले मैच में बेहतरीन प्रदर्शन भी किया, लेकिन सीरीज में जैसे-जैसे मैच आगे बढ़ते गए, वह अपनी चमक खोने लगे। पंड्या को टीम हरफनमौला खिलाड़ी के रूप में देख रही है। पंड्या में काबिलियत भी है लेकिन वह उस काबिलियत से इंसाफ नहीं कर पा रहे हैं। चौथे वनडे में पांच ओवरों में 31 रन देकर 1 विकेट हासिल किया। पहले मैच में गेंदबाजी में ओपन करने वाले पंड्या को चौथे मैच में धोनी ने सिर्फ पांच ओवर ही गेंदबाजी करने दी। वहीं जब टीम को पंड्या से बल्लेबाजी में उम्मीद थी तो पंड्या वहां भी टीम के लिए घाटे का सौदा ही साबित हुए। पंड्या ने 13 गेंदों में सिर्फ 9 रन बनाए और लंबा शॉट खेलने के चक्कर में कैच आउट हो गए। पंड्या ने अपने विकेट की कीमत को नहीं पहचाना, पंड्या को हालात के अनुसार बल्लेबाजी करनी चाहिए थी लेकिन वह ऐसा करने में सफल नहीं हो सके और सातवें खिलाड़ी के रूप में आउट होकर भारत को हारने के लिए छोड़ दिया।

2. महेंद्र सिंह धोनी:

भारतीय सीमित ओवरों के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी से टीम को बहुत उम्मीदें थीं, यह उम्मीदें और भी बढ़ गई जब मैच धोनी के ही शहर में हो रहा था। मैच से पहले ही धोनी अपनी हमर को लेकर सुर्खियों में थे, लेकिन जितनी अच्छी वह ‘हमर’ चला रहे थे उतना अच्छा वह ‘बल्ला’ नहीं चला सके नतीजा भारत मैच 19 रन से हार गया। आपको याद होगा कि धोनी ने तीसरे मैच में चौथे नमबर उतरते हुए बेहतरीन प्रदर्शन किया था। चौथे वनडे में धोनी फिर चौथे नंबर पर उतरे लेकिन इस बार वह उस लय में नहीं दिख रहे थे और मैदान पर कई बार उन्हें गेंदबाजों के सामने परेशान होते देखा गया। सैंटनर, नीशम को खेलने में धोनी को बहुत परेशानी हो रही थी। धोनी ने मैच में कुल 31 गेंदों में सिर्फ 11 रन ही बनाए, इस दौरान धोनी ने कोई चौका-छक्का नहीं लगाया और नीशम की गेंद पर बोल्ट आउट हो गए। धोनी भारत की तरफ से आउट होने वाले चौथे खिलाड़ी थे और उनके आउट होते ही टीम दबाव में आ गई और भारत को मैच गंवाना पड़ा।

1. रोहित शर्मा:

रोहित शर्मा एक ऐसा नाम जिसे क्रिकेट पंडित बहुत ही काबिल और शानदार खिलाड़ी मानते हैं। रोहित के नाम वनडे में दो दोहरे शतक दर्ज हैं। लेकिन न्यूजीलैंड के खिलाफ सीरीज में रोहित का बल्ला बिल्कुल खामोश है। ऐसा लग रहा है जैसे ‘रोहित के बल्ले को जैसे सांप सूंघ गया हो’, रोहित पूरी सीरीज में फ्लॉप रहे और रनों के लिए तरसते रहे। हालात ये हो गए हैं कि कीवी टीम को उनका विकेट लेने के लिए कोई मेहनत नहीं करनी पड़ती। रोहित खुद ही अपना विकेट उन्हें तोहफे में दे देते हैं। रोहित शर्मा ने चौथे वनडे में 19 गेंदों में 11 रन बनाए और लाऊदी की गेंद पर विकेटकीपर को कैच थमाकर वापस पवेलियन लौट गए। रोहित शर्मा से टीम को ये कतई नहीं थी और जिस तरह से वह बार-बार जल्दी आउट हो रहे हैं उसे देखकर लग रहा है जैसे वह टीम पर बोझ बन गए हैं। रोहित शर्मा ने सीरीज में अब तक (11, 13, 14, 15) रन बनाए हैं। सीरीज में रोहित के स्कोर को देखकर लगता है जैसे वह बच्चों को गिनती याद करा रहे हों। सीरीज में रोहित का उच्च स्कोर सिर्फ 15 रन रहा है और जिस तरह से वह खेल रहे हैं उसे देखते हुए लगता है कि पांचवें मैच में वह 12 रन बनाकर आउट हो जाएंगे।