गुजरात लायंस © Gujarat Lions Twitter handle
गुजरात लायंस © Gujarat Lions Twitter handle

आईपीएल 9 की नई नवेली टीम गुजरात लायंस ने अपने पहले सीजन में जिस तरह से खिलाड़ियों को चुनने में तत्परता और चतुराई दिखाई है उसने उन्हें आईपीएल की एक ऐसी टीम के रूप में स्थापित कर दिया है जिनके हर विभाग(गेंदबाजी, बल्लेबाजी, क्षेत्ररक्षण) में एक गहरा राज छुपा हुआ दिखाई देता है। चूंकि इस नई टीम कॉम्बिनेशन से सभी टीमें अनिभिज्ञ हैं। ऐसे में निश्चित तौर पर रैना की अगुआई वाली टीम आईपीएल-9 में फायदा उठाना चाहेगी। नीलामी के पहले ही दौर में राजकोट टीम ने तब बाजी मार ली थी जब उसने विश्व के सबसे बड़े क्रिकेटरों सुरेश रैना, ब्रेंडन मैक्कलम, ड्वेन ब्रावो, जेम्स फॉकनर और रविंद्र जडेजा को अपनी टीम में शामिल कर लिया। ये भी पढ़ें: कोलकाता नाइट राइडर्स(केकेआर) टीम प्रिव्यू: तीसरे खिताब पर होगी नजर

टीम के अधिकतर खिलाड़ी क्षेत्ररक्षण, बल्लेबाजी और गेंदबाजी में उस्ताद हैं। ध्यान देने वाली बात यह है कि टीम में तीन खिलाड़ी(ड्वेन ब्रावो, जेम्स फॉकनर और रविंद्र जडेजा) टी20 के विशेषज्ञ ऑलराउंडर्स हैं। 6 फरवरी को हुई नीलामी में भी राजकोट ने चुन-चुनकर अच्छे खिलाड़ियों को चुनने की जहमत दिखाई। राजकोट की टीम पर अगर एक सरसरी निगाह दौड़ाई जाए तो पता चलता है कि इनके पास तीन विशेषज्ञ सलामी बल्लेबाज एरन फिंच, ब्रेंडन मैक्कुलम और ड्वेन स्मिथ हैं जो किसी भी स्तर की गेंदबाजी को नेस्तनाबूद करने का माद्दा रखते हैं। ये भी पढ़ें: जानें आईपीएल की चीयरलीडर्स के जीवन की दंग करने वाली सच्चाई

वहीं टीम में तीन विकेटकीपर दिनेश कार्तिक, एकलव्य द्विवेदी, ईशान किशन हैं। हालांकि, अंतिम एकादश में इनमें से दिनेश कार्तिक के खेलने की ज्यादा संभावनाएं हैं। भले ही राजकोट टीम मैनेजमेंट ने एक बेहतरीन टीम को चुना है, लेकिन इसी बीच एक समस्या भी खड़ी हो गई है जो निश्चित तौर पर टूर्नामेंट में उन्हें कुरदने वाली है। वह है टीम में 7 देशी व 4 विदेशी खिलाड़ियों का समायोजन। जैसा कि गुजरात टीम में कई मैच विजेता खिलाड़ी हैं ऐसे में किस खिलाड़ी को चुना जाए और किसे नहीं इसे लेकर कप्तान रैना पर दबाव रहेगा जो उनके प्रदर्शन में भी असर डाल सकता है। गौर करने वाली बात यह भी है कि रैना आजकल खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं ऐसे में वह कैसे आईपीएल में अपने आपको संभालते हुए सितारों से सजी हुई टीम को जीत की दहलीज पर खड़ा करते हैं। ये देखना दिलचस्प होगा।

हालांकि गेंदबाजी में उनके पास कई नए और अच्छे गेंदबाज हैं। टीम ने इस बार 20 साल के युवा लेफ्ट आर्म स्पिनर शिविल कौशिक को चुना है। कौशिक ने इस साल केपीएल में अपने अलग गेंदबाजी एक्शन के साथ जबरदस्त गेंदबाजी की थी। ऐसे में वह आईपीएल 9 में लायंस के बेहतरीन क्षेत्ररक्षण को देखते हुए बल्लेबाजों के लिए एक अबूझ पहेली साबित हो सकते हैं। टीम में एक कमजोरी डेथ ओवरों के लिए एक अच्छे गेंदबाज की कमी जरूर है। लायंस के स्टार तेज गेंदबाज डेल स्टेन अभी बुरे दौर से गजर रहे हैं। अगर वह आईपीएल तक अपनी लय पाने में सफल नहीं रहते तो यह टीम के लिए एक बड़ी समस्या होगी। ऐसे में टीम के बल्लेबाजों को बल्ले से 10 से 20 रन ज्यादा बनाने होंगे ताकि इस खाई को पाटा जा सके।

गुजरात लायंस की 24 सदस्यीय टीम: सुरेश रैना, रविंद्र जडेजा, ब्रेंडन मैकुलम, ड्वेन ब्रावो, जेम्स फॉकनर, प्रवीण कुमार, दिनेश कार्तिक, धवल कुलकर्णी, एकलव्य द्विवेदी, ईशान किसन, प्रदीप सांगवान, प्रवीण तांबे, शादाब जकाती, जयदेव शाह, पारस डोगरा, शिविल कौशिक, सरबजीत लड्डा , उमंग शर्मा, अक्षदीप नाथ, अमित मिश्रा, ड्वेन स्मिथ, डेल स्टेन, आरोन फिंच, एंड्रयू टाय।