पिछले साल की उपविजेता टीम है बैंगलौर © Getty Images
पिछले साल की उपविजेता टीम है बैंगलौर © Getty Images

आईपीएल की सबसे मजबूत टीम माने जाने वाली रॉयल चैलेंजर बैंगलौर ने आज नीलामी में कई बड़े खिलाड़ियों को खरीदा। बैंगलौर ने आज केवल पांच खिलाड़ी खरीदे जिनमें से दो क्रिकेटर विदेशी हैं। बैंगलौर के सबसे महंगे खिलाड़ी साबित हुए टाइमल मिल्स जिस पर इस टीम ने 12 करोड़ रुपए खर्च कर दिए। इंग्लैंड का यह खिलाड़ी पहली बार आईपीएल सत्र में खेल रहा है। इसी के साथ विराट कोहली की इस टीम ने अनिकेत चौधरी, पवन नेगी, बिली स्टेनलेक और प्रवीण दुबे को खरीदा। हम यहां आपको बताने जा रहे हैं कि इन नए चेहरों के टीम में शामिल होने के बैंगलौर टीम को क्या फायदे होंगे और उनकी रणनीति में क्या फर्क पड़ेगा।

खिलाड़ी भूमिका राशि
टाइमल मिल्स गेंदबाज 12 करोड़
अनिकेत चौधरी गेंदबाज तीन करोड़
पवन नेगी ऑलराउंडर एक करोड़
बिली स्टेनलेक गेंदबाज तीस लाख
प्रवीण दुबे ऑलराउंडर दस लाख

क्रिकेटकंट्री का रिव्यू: बल्लेबाजों से सजी इस टीम की कमजोरी गेंदबाजी रही है। बड़ा स्कोर बनाकर भी उसे बचा ना पाने के कारण पिछले सत्र में विराट की टीम विजेता बनने से चूक गई थी। जैसा कि सभी को अंदाजा था बैंगलौर टीम ने सभी गेंदबाज या ऑलराउंडर खिलाड़ियों पर ही पैसे खर्च किए हैं। टाइमल मिल्स इस टीम की गेंदबाजी को मजबूती प्रदान करेंगे। मिल्स बाएं हाथ के तेज गेंदबाज हैं जिन्होंने इंग्लैंड के भारत दौरे पर बढ़िया प्रदर्शन किया था। वहीं बाएं हाथ के मध्यम गेंदबाज अनिकेत चौधरी जिन्हें पिछले दिनों ऑस्ट्रेलियन गेंदबाज मिचेल स्टॉर्क की गेंदबाजी के खिलाफ तैयार करने के लिए टीम में शामिल किया गया था को भी बैंगलौर ने खरीदा है। हालांकि चौधरी की गति स्टॉर्क से कहीं कम है लेकिन स्टॉर्क के आईपीएल से नाम वापस लेने के बाद इस खिलाड़ी के पास मौका है कुछ कर दिखाने का। बैंगलौर ने स्टॉर्क की अनुपस्थिति की कमी को पूरी तरह से भरने का इंतजाम कर लिया है। ये भी पढ़ें: आईपीएल 2017(लाइव ब्लॉग): नीलाम खिलाड़ियों की पूरी सूची

अगर बाकी तीन खिलाड़ियों के बारे में बात करें तो पवन नेगी को एक करोड़ में खरीदने के बैंगलौर के फैसले ने सभी को चौका दिया है। नेगी को 8.5 करोड़ में खरीदने वाली दिल्ली टीम ने उनके खराब प्रदर्शन के चलते उन्हें टीम से बाहर किया गया था। नेगी ने अब तक आईपीएल में 29 मैचों में केवल 209 रन बनाए हैं जिसमें एक भी शतक या अर्धशतक शामिल नहीं है। नेगी की गेंदबाजी भी कुछ खास नहीं रही है, पांच सत्रों में उन्होने केवल 14 विकेट लिए हैं। नेगी को टीम में किस वजह से शामिल किया गया है यह तो मालिक ही जाने, हम तो बस यही कहेंगे कि यह बैंगलौर के लिए बड़ा दांव साबित हो सकता है। ऑस्ट्रेलिया के बिली स्टेनलेक भी आईपीएल में अपना पर्दापण कर रहे हैं। बिली दाएं हाथ के मध्यम गेंदबाज हैं। उनके लिए यह अग्निपरीक्षा होगी कि वह अपने प्रदर्शन से आने वाले सत्रों में अपनी जगह पक्की करें। अब बात करते हैं बैंगलौर के खरीदे आखिरी खिलाड़ी प्रवीण दुबे की। दुबे स्पिन गेंदबाज हैं जो कि युजवेंद्र चहल का साथ दे सकते हैं। ये भी पढ़ें: आईपीएल नीलामी 2017: सर्वाधिक राशि में बिके शीर्ष पांच नए खिलाड़ी 

अब देखना होगा कि बैंगलौर की यह नई और बदली टीम विराट कोहली का खिताब जीतने का सपना पूरा कर पाती है या नहीं। 5 अप्रैल को बैंगलौर को अपना पहला मैच सनराइजर्स हैदराबाद के खिलाफ खेलना है। इस मैच से दर्शकों की पिछले सत्र के फाइनल मैच की यादें ताजा हो जाएंगी।