Sports News Today February 22, Ashton Agar’s T20 hat-trick: टी-20 क्रिकेट की जब शुरुआत हुई थी उस समय इसे बल्लेबाजों का खेल माना जाता था. दिग्गजों का कहना था कि क्रिकेट के सबसे छोटे फॉर्मेट में गेंदबाजों के लिए कुछ भी नहीं है. क्योंकि फटाफट क्रिकेट में गेंदबाजों को सिर्फ 4 ओवर करने को मिलते हैं. जानकारों का मानना था कि अब तो गेंदबाजों की शामत आने वाली है और इसमें बल्लेबाज राज करेंगे. लेकिन समय के साथ गेंदबाजों ने इसे धता बताते हुए खुद को स्थापित किया और बल्लेबाजों को जमकर अपनी तेज गेंदबाजी और स्पिन से छकाया.

खिलाड़ियों को बोर्ड की दखलअंदाजी से दूर रखना जरूरी : कोच डोमिंगो

ऑस्ट्रेलिया के बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज एश्टन एगर ने शुक्रवार को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपने नाम एक खास उपलब्धि दर्ज कर ली. एगर ने जोहांसबर्ग में खेले गए सीरीज के पहले टी20 मैच में लगातार 3 गेंदों पर तीन विकेट हासिल कर हैट्रिक पूरी की.

ऐसे ली हैट्रिक

एगर ने ये कारनामा दक्षिण अफ्रीका के 8वें ओवर में पूरा किया. उन्होंने आठवें ओवर की चौथी गेंद पर दक्षिण अफ्रीका के पूर्व कप्तान फाफ डु प्लेसिस को केन रिचडर्सन के हाथों डीप में कैच कराया. पांचवीं गेंद पर एंडिले फेहलुकवायो एलबीडब्ल्यू आउट हुए जबकि इस ओवर की छठी और अंतिम गेंद पर डेल स्टेन को एगर ने एरोन फिंच के हाथों स्लिप में कैच करा टी20 में अपनी पहली हैट्रिक पूरी की. एगर टी20 में हैट्रिक लेने वाले ऑस्ट्रेलिया के दूसरे गेंदबाज हैं. इससे पहले ब्रेट ली ने 2007 के टी20 वर्ल्ड कप में बांग्लादेश के खिलाफ हैट्रिक ली थी.

दूसरी बार हैट्रिक से चूके एगर

इसी मैच में एगर दूसरी बार हैट्रिक लेने से चूक गए. हैट्रिक पूरी करने के बाद एगर ने फिर पीट वान विलजोन और लुंगी एंगिडी को लगातार 2 गेंदों पर आउट किया. लेकिन तबरेज शम्सी को वह आउट करने से चूक गए. एगर ने मैच में 4 ओवर की अपनी गेंदबाजी में 24 रन देकर कुल 5 विकेट अपने नाम किए. एगर की फिरकी के आगे दक्षिण अफ्रीकी टीम महज 89 रन पर ढेर हो गई और 107 रन से मुकाबला गंवा बैठी. रनों के लिहाज से दक्षिण अफ्रीका की टी20 में ये सबसे बड़ी हार है.

केन विलियमसन-रॉस टेलर की साझेदारी के दम पर न्यूजीलैंड टिकी, टी तक का स्कोर 116/2

टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट की 13वीं हैट्रिक

एगर टी20 इंटरनेशनल क्रिकेट में हैट्रिक लेने वाले 13वें गेंदबाज हैं. इससे पहले दुनिया के अलग-अलग 12 गेंदबाज इस उपलब्धि को हासिल कर चुके हैं जिसमें ली के अलावा जैकब ओरम, टिम साउदी, थिसारा परेरा, लसिथ मलिंगा (2 बार), फहीम अशरफ, राशिद खान,  मोहम्म हसनैन, खावर अली, एन वनुआ और भारत के दीपक चाहर शामिल हैं.