महेंद्र सिंह धोनी © Getty Images
महेंद्र सिंह धोनी © Getty Images

टीम इंडिया ने बांग्लादेश के खिलाफ कल खेले गए मैच में बांग्लादेश पर 1 रन से जीत दर्ज करते हुए अपने विजय रथ को सेमीफाइनल की ओर बढ़ा लिया है। वैसे इस मुकाबले में बांग्लादेश की टीम ने टीम इंडिया को बेहद कड़ी टक्कर दी। जीत के बेहद करीब पहुंच गयी बांग्लादेशी टीम के लिए कल का मैच इतना आसान नहीं रहा। दोनों ही टीमों को ये अंतिम तक नहीं पता था कि जीत किसके हाथ में लगेगा। जीत के लिए दोनों ही टीम को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। लेकिन कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के सूझबूझ के बदौलत टीम इंडिया को अपनी दूसरी जीत मिल सकी। टीम इंडिया अपना अगला मैच ऑस्ट्रेलिया से 27 मार्च को खेलेगा। भारतीय टीम इस मैच को जीतकर अपने आप को सेमीफाइनल में पहुँचाना चाहेगा। आइए जानते हैं टीम इंडिया के जीत के पांच बड़े कारण- ये भी पढ़ें: वीडियो: भारत की जीत के बाद महेंद्र सिंह धोनी को आया गुस्सा

भारतीय बल्लेबाजी– टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाजों ने भारत को एक अच्छी शुरुआत दी। रोहित ने 18 रन बनाए तो शिखर धवन ने 23 रन बनाए। लेकिन इन दोनों के आउट हो जाने के बाद भारतीय रन मशीन विराट कोहली और सुरेश रैना ने भारतीय पारी को संभाला और बड़े स्कोर तक ले गए। इन दोनों के बीच 50 रनों की साझेदारी हुई जो कि बेहद टीम के लिए बेहद जरुरी था। टीम इंडिया के जीत में सबसे अहम् रही इनकी 50 रनों की साझेदारी। जिसने एक बड़ा स्कोर खड़ा करने में भारतीय टीम की मदद की।

भारतीय गेंदबाजी– टीम इंडिया के गेंदबाजों ने एक बार फिर बेहद कमाल की गेंदबाजी करते हुए अपनी टीम द्वारा बनाए गए इतने कम रनों को उन्होंने बांग्लादेशी बल्लेबाजों के लिए बेहद मुश्किल कर दिया। आशीष नेहरा के टीम में आ जाने से भारतीय गेंदबाजी और बेहतर हो गयी है। उनका अनुभव टीम के लिए बेहद खास रहा। नेहरा ने 1 विकेट लिया।

स्पिन गेंदबाजी –  स्पिन गेंदबाजी की कमान रविचंद्रन अश्विन के कंधो पर थी और उन्होंने अपनी इस जिम्मेदारी को निभाते हुए 2 विकेट भी निकाले। उनका साथ रवीन्द्र जडेजा ने देते हुए महत्वपूर्ण 2 विकेट लिए। सुरेश रैना ने बल्ले के साथ तो कमाल दिखाया ही और साथ ही साथ टीम के लिए 1 विकेट भी लिया। अश्विन को  मैन ऑफ द मैच भी दिया गया। ये भी पढ़ें: धोनी ने बताया कि उन्होंने अंतिम ओवर में क्या कहा था पांड्या से

हार्दिक पांड्या का दमदार प्रदर्शन-  टीम इंडिया की नई खोज ऑल राउंडर हार्दिक पांड्या ने बल्ले के साथ ही साथ गेंद से भी कमाल का प्रदर्शन किया। जिसके बदौलत टीम इंडिया को अपने तीसरे मैच में जीत हासिल हो सकी। हार्दिक ने 3 ओवर किए जिसमें उन्होंने 2 महत्वपूर्ण विकेट लिए। हार्दिक ने अपने बल्ले से कमाल दिखाते हुए महज 7 गेंदों में 15 रन बना डाले जिसमें 2 चौका और 1 छक्का भी शामिल है।

धोनी की कप्तानी- भारतीय कप्तान धोनी ने पूरे मैच में अपनी सूझबूझ के साथ कप्तानी की। धोनी ने 18 वें ओवर में नेहरा को गेंद थमाई और नेहरा ने कप्तान का भरोसा जीतते हुए सौम्य सरकार का महत्वपूर्ण विकेट लिया। अन्तिम ओवर में धोनी ने हार्दिक को गेंद सौपी उस समय बांग्लादेशी टीम को 1 ओवर में 11 रनों की जरुरत थी और अंतिम ओवर में धोनी ने बेहतरीन रन आउट करते हुए अपनी टीम को जीत दिलाई।