when sachin tendulkar faced glenn mcgrath for the first time
फोटो साभार: Getty Images

सचिन तेंदुलकर और ग्लेन मैक्ग्रा की भिड़ंत हमेशा ही रोमांचक रही। पूरे करियर में गेंदबाजों को मुंहतोड़ जवाब देने वाले सचिन तेंदुलकर ऑस्ट्रेलिया के महान तेज गेंदबाजों को उस अंदाज में जवाब नहीं दे सके जिसके लिए उनको जाना जाता है। इन दोनों में एक दूसरे पर हावी होने की बात करें तो ज्यादातर मौके ग्लेन मैक्ग्रा के हाथ ही लगे और इसकी शुरूआत उन्होंने अपने तब कर दी थी जब उनका सामना सचिन तेंदुलकर से पहली बार हुआ था। तो आइए जानते हैं कैसा रहा था क्रिकेट के दो दिग्गजों का मुकाबला।

When Sachin Tendulkar faced Glenn McGrath for the first time
फोटो साभार: Getty Images

19 अप्रैल 1994 को शारजहां में खेले गए वनडे मुकाबले में क्रिकेट के इन दोनों दिग्गजों का आमना सामना हुआ था। तीसरे ओवर में सचिन तेंदुलकर ने ग्लेन मैक्ग्रा की गेंद को फ्लिक कर 2 रन लिये। ये गेंद चार रन के लिए जाती लेकिन बाउंड्री पर पॉल राइफल ने शानदार फील्डिंग करते हुए टीम के दो रन बचा लिये और सचिन तेंदुलकर को 2 रनों से संतोष करना पड़ा।

When Sachin Tendulkar faced Glenn McGrath for the first time
फोटो साभार: Getty Images

ग्लेन मैक्ग्रा की अगली गेंद पर सचिन तेंदुलकर को 4 रन मिले। हालांकि सचिन तेंदुलकर इस गेंद को ठीक से टाइम नहीं कर पाए थे। सचिन तेंदुलकर ने पुल शॉट खेलने का प्रयास किया और गेंद बल्ले का बाहरी किनारा लेते हुए स्लिप के ऊपर से 4 रनों के लिए सीमारेखा के बाहर चली गई। ग्लेन मैक्ग्रा ने इस गेंद के बाद सचिन तेंदुलकर को एक लुक दिया और गेंदबाजी रन अप पर चले आए।

अगली गेंद पर सचिन तेंदुलकर ने फिर से पुल शाट मारने का प्रयास किया और गेंद को सही से नहीं खेल पाए। सचिन तेंदुलकर के बल्ले से निकल कर गेंद सीधी कप्तान मार्क टेलर के हाथों में चली गई और सचिन तेंदुलकर के साथ ग्लेन मैक्ग्रा की पहली भिड़ंत में बाजी ग्लेन मैक्ग्रा के हाथ लगी। 2003 विश्व कप के फाइनल में भी सचिन तेंदुलकर कुछ इसी अंदाज में ग्लेन मैक्ग्रा को पुल करने के चक्कर में आउट हुए थे।

वनडे की पहली भिड़ंत में बाजी मारने वाले ग्लेन मैक्ग्रा ने सचिन तेंदुलकर को पहली टेस्ट भिड़ंत में भी हराया। 1996 में दिल्ली टेस्ट में इन दोनों की भिड़ंत हुई। भारत की दूसरी पारी में चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए सचिन तेंदुलकर को ग्लेन मैक्ग्रा ने शून्य के स्कोर पर बोल्ड किया।

ग्लेन मैक्ग्रा ने सचिन तेंदुलकर को वनडे में 7 और टेस्ट क्रिकेट में 6 बार पवेलियन की राह दिखाई। लेकिन सचिन तेंदुलकर ने भी कभी भी ग्लेन मैक्ग्रा को खुद पूरी तरह हावी नहीं होने दिया और कई मौकों पर करारा जवाब दिया।