कराईकुड़ी कालई (Photo Courtesy: Twitter)
कराईकुड़ी कालई (Photo Courtesy: Twitter)

महज आठ साल की उम्र में अपनी गेंदबाजी से तहलका मचाने वाले निवेतन राधाकृष्णन अब जल्द ही तमिलनाडु प्रीमियर लीग में खेलते नजर आएंगे। 14 साल के हो चुके निवेतन राधाकृष्णन 22 जुलाई से शुरू होने वाले तमिलनाडू प्रीमियर लीग में पर्दापण करेंगे। अपने पहले सीजन में वह कराईकुड़ी कालई टीम के लिए खेलेंगे। बाएं हाथ के स्पिन गेंदबाज निवेतन पिछले काफी समय से ऑस्ट्रेलिया में गेंद के साथ साथ बल्ले से भी कमाल का प्रदर्शन कर रहे हैं। निवेतन ने बतौर सलामी बल्लेबाज एक प्रादेशिक मैच में 193 रनों की धुआंधार पारी खेली थी। इस बेहतरीन पारी के बाद कई ग्रैग चैपल और स्टीव वॉ जैसे दिग्गज भी निवेतन को नजरअंदाज नहीं कर सके।

निवेतन अपने परिवार के साथ साल 2012 में ऑस्ट्रेलिया में बस गए थे लेकिन अब वह अपने घरेलू मैदान चेन्नई में क्रिकेट खेलने के लिए लौट आए हैं। इस बारे में एक अंग्रेजी अखबार से बातचीत में उन्होंने कहा, “चेन्नई में वापस आकर काफी अच्छा लग रहा है, मैने पिछला टीएनपीएल सीजन नहीं देखा था। हालांकि मैं अब टीएनपीएल की तैयारी के लिए चेन्नई में ही हूं। मैं मौसम और परिस्थितियों के साथ खुद को ढालने के लिए पूरी कोशिश कर रहा हूं लेकिन मुझे भरोसा है कि मैं अच्छा प्रदर्शन करूंगा।” छह साल की उम्र से क्रिकेट खेल रहे निवेतन ने सर गारफील्ड सोबर्स को अपना आदर्श बताया। [ये भी पढ़ें: विराट कोहली आईसीसी वनडे रैंकिंग में शीर्ष पर बरकरार]

उन्होंने कहा, “मुझे सचिन की तकनीक पसंद है लेकिन मैं बतौर हरफनमौला खिलाड़ी सर गैरी की तरह बनना चाहता हूं। मुझे उनके समय की वेस्टइंडीज टीम काफी अच्छी लगती थी। मैने उनपर लिखी कुल 16 किताबे पढ़ी हैं और मेरा खेल उन्हीं के वीडियो में देखी तकनीक के इर्द गिर्द घूमता है। शुरुआत से ही मैने ना तो परंपरागत बल्लेबाजी की है और ना ही गेंदबाजी। मैं साहसी बनना चाहता हूं।” निवेतन की टीम के कोच पी सी प्रकाश को भी यकीन है कि वह अपने से बड़े उम्र के खिलाड़ियों के साथ खेल सकता है।