आशीष नेहरा © Getty Images
आशीष नेहरा © Getty Images

आशीष नेहरा ने भारतीय टीम में जब से वापसी की है, उसके बाद से ही वह लगातार शानदार प्रदर्शन कर रहे हैं। नेहरा को जब भी खत्म कहा जाता है , तभी नेहरा अच्छी वापसी कर सभी के मुंह पर ताले जड़ देते हैं और उनका मानना है कि इस उम्र में अब भी वह तेज गेंदबाजी करते हैं। नेहरा ने कहा, ‘‘मेरी उम्र में (वह अगले महीने 38 साल के हो जाएंगे)। मैं अब भी तेज गेंदबाज हूं। मैं कभी भी 125 से 128 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करने वाला गेंदबाज नहीं था। आज भी नई गेंद से मैं 138 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करने का लक्ष्य बनाता हूं कि मुझे ऐसा करना ही है। रफ्तार ही सबकुछ नहीं है लेकिन अगर जरूरत पड़ती है तो मैं टी20 में भी 140 से ज्यादा की रफ्तार पकड़ सकता हूं।’’

जब उनसे पूछा गया कि क्या इससे उन पर दबाव बनता है कि मौजूदा कप्तान विराट कोहली भी उन्हें वैसे ही टीम में देखना चाहते हैं जैसे सौरव गांगुली या महेंद्र सिंह धोनी उन्हें टीम में चाहते थे। उन्होंने कहा, ‘‘अगर कोई कहता है कि उसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर दबाव महसूस नहीं होता तो वह झूठ बोल रहा है। लेकिन मेरे करियर में इस चरण में दबाव से ज्यादा मेरे अंदर सीनियर क्रिकेटर होने के नाते जिम्मेदारी का भाव है। ताकि युवा गेंदबाजों को अपनी सलाह से मदद कर सकूं।’’ ये भी पढ़ें: हरभजन सिंह और नेहा धूपिया के बीच हुई तीखी बहस, हरभजन ने छोड़ा शो

नेहरा ने कहा, ‘‘मैं और महेंद्र सिंह धोनी अलग उम्र के दो खिलाड़ी हैं। हमारा काम अपने अनुभव के अनुसार इस टीम में स्थिरता लाना है। ’’ यह पूछने पर कि अगर भारत उन्हें 2019 के 50 ओवर के विश्व कप की टीम में चाहेगा तो वह इस सुझाव पर हंस पड़े। उन्होंने कहा, ‘‘2019 अभी बहुत दूर है और मेरी उम्र को देखते हुए मैं इतना नहीं खेल सकता, हालांकि मैं जब युवा था तब भी मैंने कोई योजना नहीं बनाई थी। यहां तक महेंद्र सिंह धोनी जो मुझसे दो साल छोटा है, वह भी इतनी दूर के बारे में नहीं सोच रहा होगा।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अभी मैं आईपीएल के लिए तैयारी कर रहा हूं क्योंकि दिल्ली ने विजय हजारे ट्रॉफी के लिए क्वालीफाई नहीं किया है। फिर चैंपियंस ट्रॉफी होगी।’’