Bangalore vs Chennai, Indian T20 League: Harbhajan singh, Imran Tahir stars as Chennai beat Banglore by 7 wickets
Harbhajan singh

कप्‍तान विराट कोहली की अगुवाई वाली बैंगलुरू ने इंडियन टी-20 लीग के 12वें सीजन में हार के साथ शुरुआत की है।

शनिवार को चेन्‍नई में खेले गए उद्घाटन मुकाबले में महेंद्र सिंह धोनी की कप्‍तानी वाली चेन्‍नई ने बैंगलुरू को 7 विकेट से हरा दिया। चेन्‍नई की इस जीत में उसके गेंदबाजों का अहम योगदान रहा।

पढ़ें: रैना के इंडियन टी-20 लीग में 5, 000 रन पूरे, ऐसा करने वाले पहले क्रिकेटर बने

अनुभवी ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह और इमरान ताहिर की फिरकी के जाल में बैंगलुरू के बल्‍लेबाज ऐसे फंसते चले गए कि टीम 17.1 ओवर में 70 रन पर ढेर हो गई। इसके बाद चेन्‍नई ने 3 विकेट के नुकसान पर 17.4 ओवर में लक्ष्‍य हासिल कर लिया।

लो स्‍कोरिंग वाले इस मैच में चेन्‍नई की शुरुआत भी अच्‍छी नहीं रही। स्‍कोर में अभी 8 रन ही जुड़े थे कि शेन वॉटसन को चहल ने बोल्‍ड कर चेन्‍नई को तगड़ा झटका दिया। वॉटसन खाता भी नहीं खोल सके।

पढ़ें: हैदराबाद के कप्तान विलियमसन का पहले मैच में खेलना संदिग्ध

इसके बाद अंबाती रायडू और सुरेश रैना ने पारी को आगे बढ़ाते हुए कुल रन संख्‍या को 40 तक ले गए। रैना ने इस दौरान आईपीएल में अपने 5,000 रन भी पूरे किए। ये उपलब्धि हासिल करने वाले रैना पहले क्रिकेटर हैं।

रैना के रूप में चेन्‍नई ने अपना तीसरा विकेट गंवाया। उन्‍हें मोइन अली ने शिवम दूबे के हाथों कैच कराया। 21 गेंदों पर तीन चौकों की मदद से 19 रन बनाकर रैना आउट हुए।

रायडू ने 42 गेंदों पर 28 रन की पारी खेली। उन्‍हें पेसर मोहम्‍मद सिराज ने बोल्‍ड किया। केदार जाधव 13 जबकि रविंद्र जडेजा 6 रन बनाकर नाबाद लौटे। बैंगलुरू की ओर से चहल, मोइन और सिराज ने एक-एक विकेट झटका।

हरभजन और ताहिर ने झटके 3-3 विकेट

चेपॉक के धीमे विकेट पर हरभजन ने 4 ओवर में 20 रन देकर 3 जबकि ताहिर ने तीन ओवर में 9 रन देकर 3 विकेट चटकाए। स्पिनरों की ऐशगाह पिच पर रविंद्र जडेजा ने भी 4 ओवर में 15 रन देकर 2 विकेट लिए।

धोनी का हरभजन से गेंदबाजी कराने का फैसला सही साबित हुआ जिन्‍होंने विरोधी कप्तान कोहली को चौथे ही ओवर में पवेलियन भेजा। बैंगलुरू इस झटके से उबर नहीं सकी।

पढ़ें : बैंगलुरू ने चेन्‍नई को दिया 71 रन का लक्ष्‍य

45 रन के कुल स्‍कोर पर बैंगलुरू की आधी टीम पवेलियन लौट चुकी थी। पार्थिव पटेल के साथ पारी की शुरुआत करने आए कोहली कुछ खास कमाल नहीं कर सके। हरभजन ने कोहली को जडेजा के हाथों कैच कराकर बैंगलुरू को तगड़ा झटका दिया।

कोहली 12 गेंदों पर 6 रन ही बना सके। पहला विकेट जल्‍दी गिरने के बाद मोइन को दूसरे नंबर पर बल्‍लेबाजी के लिए भेजा गया। मोइन टीम की उम्‍मीदों पर खरा नहीं उतर सके और 9 रन बनाकर चलते बने।

मोइन के रूप में हरभजन ने अपना दूसरा शिकार पूरा किया। एबी डिविलियर्स से कोहली को ज्‍यादा उम्‍मीदें थीं लेकिन डिविलियर्स भी कुछ खास नहीं कर सके और 9 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। उन्‍हें हरभजन सिंह ने अपना तीसरा शिकार बनाया।

पढ़ें: ‘इंडियन टी-20 लीग से बाहर रह सकते हैं मिल्ने, मलिंगा के भी खेलने पर संदेह’

विंडीज के युवा बल्‍लेबाज शिमरोन हेटमेयर को धोनी और रैना ने खाता भी नहीं खोलने दिया। धोनी ने रैना के थ्रो पर हेटमेयर को रनआउट कर बैंगलुरू को चौथा झटका दिया। डेब्‍यू कर रहे शिवम दूबे भी सस्‍ते में आउट हुए। शिवम को इमरान ताहिर ने शेन वॉटसन के हाथों कैच कराया।

शिवम 5 गेंदों पर 2 रन बनाकर आउट हुए। न्‍यूजीलैंड के ऑलराउंडर कोलिन डी ग्रैंडहोम को चार रन के निजी योग पर जडेजा की गेंद पर धोनी ने विकेट के पीछे कैच आउट किया। नवदीप सैनी दो जबकि युजवेंद्र चहल 4 रन बनाकर आउट हुए। उमेश यादव को एक रन के निजी स्‍कोर पर जडेजा ने बोल्‍ड किया।

पढ़ें: … तो इस वजह से रहाणे को स्‍टेडियम के बाहर करना पड़ा इंतजार

बैंगलुरू का आखिरी विकेट पार्थिव के रूप में गिरा जिन्‍हें 29 रन के निजी योग पर ड्वेन ब्रावो ने केदार जाधव के हाथों लपकवाया। मोहम्‍मद सिराज खाता खोले बगैर नाबाद लौटे। ड्वेन ब्रावो के खाते में एक विकेट गया।