Chris Lynn: I have no expectation for getting in ODI side because I didn’t put runs on board
Chris Lynn (AFP Photo)

ऑस्ट्रेलिया के धमाकेदार टी20 बल्लेबाज क्रिस लिन भारत के खिलाफ वनडे टीम में ना चुने जाने से निराश नहीं हैं। लिन का कहना है कि उन्हें पहले से ही वनडे टीम में चुने जाने की कोई उम्मीद नहीं थी क्योंकि उन्होंने जरूरी रन नहीं बनाए थे।

मैक्वेरी रेडियो से बातचीत में लिन ने कहा, “मैंने बोर्ड पर रन नहीं लगाए और, देखिए वहां और कई लड़कें हैं जो रन बना रहे हैं। मैं कभी भी अपने आपे से आगे नहीं निकला था और सबसे अहम बात है कि मैं ब्रिसबेन हीट के लिए खेलते हुए अपने खेल का मजा ले रहा हूं। ऑस्ट्रेलिया के लिए खेलना बोनस है। मैं कभी भी ज्यादा निराश नहीं होता हूं, जाहिर है टीम से ड्रॉप होना थोड़ा निराशाजनक है लेकिन मुझे कोई उम्मीद नहीं थी कि मैं टीम में जगह पक्की कर चुका हूं क्योंकि मैंने बोर्ड पर रन नहीं लगाए थे। मुझे पता था कि मामला 50-50 का होगा और मैं हीट के लिए खेलकर खुश हूं।”

ये भी पढ़ें: सिडनी टेस्ट ड्रॉ, भारत ने 2-1 से टेस्ट सीरीज जीती

लिन की 33 रनों की पारी की मदद से हीट ने पर्थ स्क्रॉचर्स टीम को 5 विकेट से जीत दिलाई। ये मैच बॉल टैंपरिंग मामले बैन में 9 महीने के लिए बैन हुए कैमरून बैनक्रॉफ्ट की वापसी का पहला मैच था। मैच के दौरान ब्रिसबेन हीट के खिलाड़ियों ने बैनक्रॉफ्ट को स्लेज भी किया।

ये भी पढ़ें:भारत के खिलाफ टेस्ट सीरीज में हमारे गेंदबाजों ने संघर्ष किया: ब्रेट ली

इस बारे में लिन ने कहा, “बैनक्रॉफ्ट ने कुछ गेंद खेल ली थी और जिमी (जेम्स पैटिंसन) उसके पीछे था। उनसे उससे ‘दोस्त, तुम्हें आगे के पैड को हटाने के लिए 9 महीने का वक्त मिला’ जैसी बातें कहीं। बैनक्रॉफ्ट अच्छा लड़का है, मैं जिन भी खिलाड़ियों को जानता हूं, उनमें से सबसे ज्यादा मेहनत करने वाला है। वो जबरदस्त वापसी करेगी लेकिन मुझे अब भी लगता है कि राष्ट्रीय टीम में वापसी के लिए उससे आगे कई खिलाड़ी होंगे।”

बैनक्रॉफ्ट के बारे में बात करते हुए लिन ने कहा, “मुझे पता है कि वो जेएल (कोच जस्टिन लैंगर) उसके प्रशंसकों में से एक हैं इसलिए मैं ये नहीं कहूंगा कि उसे तोहफे में टीम में जगह दे दी जाएगी लेकिन चीजें उसके पक्ष में रहेंगी। लेकिन उम्मीद है कि क्वींसलैंड के दोनों लड़कें ऐसा कर पाते हैं क्योंकि दोनों अच्छे खिलाड़ी है।”