CoA may inquire BCCI about Yo-Yo Test
CoA © AFP

भारतीय टीम मैनेजमेंट यो यो टेस्ट को फिटनेस का पैमाना मानकर चल रहा है लेकिन अंबाती रायुडु को इस वजह से टीम से बाहर करने का मसला सीओए प्रमुख विनोद राय के दिमाग में है और वो बीसीसीआई से पूछ सकते हैं कि राष्ट्रीय टीम में चयन के लिए ये फिटनेस का एकमात्र पैमाना क्यों है।

रायुडु ने आईपीएल में 602 रन बनाए थे लेकिन यो यो टेस्ट में फेल होने के कारण उन्हें भारतीय टीम से बाहर कर दिया गया। इसके बाद इस टेस्ट को लेकर बहस छिड़ गई।

Anirudh Chaudhry’s letter to CoA raises questions regarding Yo-Yo test, Ambati Rayudu’s exclusion
Anirudh Chaudhry’s letter to CoA raises questions regarding Yo-Yo test, Ambati Rayudu’s exclusion

सीओए के करीबी बीसीसीआई के एक अधिकारी ने पीटीआई से कहा , ‘‘हां, सीओए हाल की चर्चाओं से वाकिफ है। उन्होंने अभी तक इस मामले में दखल नहीं दिया हैं क्योंकि ये तकनीकी मसला है लेकिन उनकी योजना क्रिकेट संचालन के प्रमुख सबा करीम से पूरी जानकारी लेने की है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘राय को रायुडु और संजू सैमसन के मामले का पता है। इस पर अभी फैसला नहीं किया गया है लेकिन वो एनसीए ट्रेनरों से इस खास टेस्ट के बारे में पूरी जानकारी देने के लिए कह सकते हैं।’’ बीसीसीआई कोषाध्यक्ष अनिरूद्व चौधरी ने भी सीओए को छह पेज का पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने पूछा है कि यो यो टेस्ट कब और कैसे चयन के लिए एकमात्र फिटनेस मानदंड बन गया।