आईपीएल (IPL 2022) में अबतक मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) फिसड्डी साबित हुई है. वो बैक टू बैक छह मैच हार चुके हैं. प्रत्‍येक फ्रेंचाइजी को प्‍लेऑफ में क्वालीफाई करने के लिए अपने 14 में से कम से कम आठ मैच जीतना अनिवार्य है. ऐसे में यहां से दिल्‍ली फ्रेंचाइजी को प्‍लेऑफ में पहुंचने के लिए बाकी सभी आठ मुकाबले जीतने होंगे. टीम के ही तेज गेंदबाज जयदेव उनादकट (Jaydev Unadkat) का कहना है कि प्‍लेऑफ में हम जगह बना पाएंगे या नहीं इसपर ज्‍यादा विचार करने का यह सही वक्‍त नहीं है. अभी केवल टीम को एक इकाई के रूप में संगठित होकर खेलने की जरूरत है.

रोहित शर्मा (Rohit Sharma) की कप्‍तानी वाली मुंबई इंडियंस की गेंदबाजी पूरी तरह से जसप्रीत बुमराह पर टिकी है. कोई अन्‍य गेंदबाज उनका साथ नहीं निभा पा रहा है. ऐसे में यही वजह है कि टीम को लगातार हार का सामना करना पड़ा रहा है. उनादकट ने मैच से पूर्व प्रेस कांफ्रेंस में कहा ,‘‘सामूहिक प्रयास की जरूरत है और हमें उसी पर जोर देना होगा. हम अपनी गलतियों से सबक लेकर बेहतर प्रदर्शन करेंगे.’’

‘‘हमारे कुछ गेंदबाजों ने कुछ अच्छे ओवर डाले हैं लेकिन एक ईकाई के रूप में मिलकर हम अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाये. हमने बात की है कि एक ईकाई के रूप में कैसे अच्छा खेलना है. डैथ ओवरों या पावरप्‍ले पर कोई नई बात नहीं हुई है , बस बात एक ईकाई के रूप में अच्छे प्रदर्शन पर ही की गई है.’’

मुंबई को प्‍लेआफ की दौड़ में बने रहने के लिये अब बाकी आठों मैच जीतने होंगे लेकिन उनादकट ने कहा कि वह इतने आगे की नहीं सोच रहे. उन्होंने कहा ,‘‘ इतना आगे की सोचने की कोई जरूरत नहीं है. हमें मैच दर मैच फोकस करके अपने प्रदर्शन के दुरूस्त करना होगा. एक बार ऐसा होने पर सब ठीक हो जायेगा. फिलहाल एक जीत और दो अंक से खाता खोलना अहम है.’’