डेविड मिलर © Getty Images
डेविड मिलर © Getty Images

डेविड मिलर ने रविवार को बांग्लादेश के खिलाफ दूसरे टी20 में धमाकेदार बल्लेबाजी का मुजाहिरा पेश किया और 35 गेंदों में शतक जड़ते हुए टी20 इंटरनेशनल का सबसे कम गेंदों में शतक अपने नाम कर लिया। इस दौरान उन्होंने अपने हमवतन रिचर्ड लेवी को पीछे छोड़ दिया। लेवी ने साल 2012 में 45 गेंदों में शतक जमाया था। वैसे मिलर इस दौरान एक बड़ा कारनामा करने से एक थोड़े अंतर से चूक गए।

दरअसल पारी के 18वें ओवर तक मिलर 25 गेंदों में 57 रन बनाकर खेल रहे थे। पारी का 19वां ओवर सैफुद्दीन लेकर आए। उन्होंने इस ओवर में एक के बाद एक पांच छक्के लगा दिए। अब लगा कि मिलर युवराज सिंह के द्वारा साल 2007 में लगाए गए लगातार 6 छक्कों के रिकॉर्ड की बराबरी कर लेंगे। लेकिन आखिरी गेंद जो फुल और ऑफ स्टंप के बाहर थी उसपर मिलर बड़ा स्ट्रोक नहीं लगा सके और उनका यह सपना धरा का धरा रह गया। मिलर इस बात से खासे नाखुश नजर आए। इस तरह से मिलर ओवर से 31 रन ही बटोर सके।

मैच के बाद कॉन्फ्रेंस में मिलर ने इस संबंध में बताया, “शतक बहुत स्पेशल था। आप सुबह जागकर ऐसा होने की उम्मीद नहीं करते हो। मैंने शुरुआत काफी धीमी की थी और पहली 10 गेंदों में ही आउट हो सकता था। उसके बाद शतक लगाना बेहतरीन था। मैंने सोचा था कि मैं 6 छक्के लगा सकता हूं लेकिन नहीं लगा पाया।”

करीबी मैच में क्यों हारी न्यूजीलैंड, टॉम लेथम ने बताया कारण
करीबी मैच में क्यों हारी न्यूजीलैंड, टॉम लेथम ने बताया कारण

द. अफ्रीका ने आखिरकार मैच में 4 विकेट पर 224 रनों का स्कोर खड़ा किया और बांग्लादेश जवाब में 18.3 ओवरों में 141 रनों पर ऑलआउट हो गई। इस तरह से द. अफ्रीका ने मैच 83 रनों से जीत लिया। साथ ही सीरीज भी 2-0 से अपने नाम कर ली। मिलर मैन ऑफ द मैच और मैन ऑफ द सीरीज रहे। मिलर ने 36 गेंदों में 101* रनों की पारी के दौरान 7 चौके और 9 छक्के लगाए।