England cricket chiefs Tom Harrison back Ben Stokes in family tragedy story row
बेन स्टोक्स © Getty Images

इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी टॉम हैरिसन ने स्टार ऑलराउंडर बेन स्टोक्स का समर्थन किया है, जिन्होंने 30 साल से अधिक पहले अपने परिवार से जुड़ी त्रासदी की खबर छापने के लिए ब्रिटेन के समाचार पत्र की आलोचना की है। हैरिसन ने कहा कि वो मंगलवार को ‘द सन’ टेबलॉयड के पहले पन्ने पर छपी खबर को लेकर बेहद क्षुब्ध और हैरान हैं।

इस साल इंग्लैंड को क्रिकेट विश्व कप जिताने में अहम भूमिका निभाने के बाद हाल में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ संपन्न एशेज में भी शानदार प्रदर्शन करने वाले स्टोक्स ने भी इस खबर को बेहद घृणित करार दिया है। उन्होंने साथ ही कहा कि इसने उनके जीवन की ‘बेहद निजी और दर्दनाक घटनाओं’ को छुआ है जो 30 साल से भी पहले न्यूजीलैंड में उनके परिवार के सदस्यों की मौत से जुड़ी है। स्टोक्स का जन्म न्यूजीलैंड में हुआ था लेकिन ये 28 वर्षीय क्रिकेटर बचपन में ही इंग्लैंड का आ गया।

ईसीबी के बयान में हैरिसन ने कहा, ‘‘हम, खेल जगत के अन्य लोगों की तरह, बेन के अतीत की त्रासदीपूर्ण घटनाओं का खुलासा करने की घटना से घृणा करते हैं और हैरान हैं।’’

क्रिकेट के सभी फॉर्मेट्स से रिटायर हुआ 2003 विश्व कप भारतीय टीम का ये सदस्य

उन्होंने कहा, ‘‘हम दुखी हैं कि समाचार पत्र बेचने या वेबसाइट पर अधिक क्लिक के लिए इस हद तक निजता के अतिक्रमण को जरूरी समझा गया। लार्ड्स और हेडिंग्ले में अपने प्रदर्शन से बेन ने इन गर्मियों में क्रिकेट इतिहास में अपनी जगह पक्की कर ली है- हमें यकीन है कि पूरा खेल और पूरा देश उसके साथ खड़ा है।’’

स्टोक्स ने बयान में कहा, ‘‘पत्रकारिता की आड़ में इस तरह के घृणित और निंदनीय बर्ताव को उचित तरीके से परिभाषित करने के लिए शब्द ढूंढना मुश्किल है। मैं अपने परिवार के अहसास और हालात को लेकर इससे अधिक अनैतिक, निर्मम या घृणित चीज की कल्पना भी नहीं कर सकता।’’