इंग्लैंड के बल्लेबाज जो डेनली ने वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट मैच में क्रमश: 18 और 29 रन की पारी खेली थी इसके बाद उन्हें दूसरे टेस्ट मैच से बाहर कर दिया गया. 34 वर्षीय डेनली इंग्लैंड के लिए 15 टेस्ट खेल चुके हैं. इंग्लैंड के खेमे से ऐसी खबरें आई कि टीम प्रबंधन द्वारा उन्हें लगातार 100 गेंद खेलने के लिए कहा जाता था.

‘डेनली के साथ नहीं हुआ अच्छा बर्ताव’

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान केविन पीटरसन ने कहा कि जो डेनली के साथ अच्छा बर्ताव नहीं हुआ और इस खिलाड़ी को वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले टेस्ट के बाद जिस तरह से टीम से बाहर किया गया वह ‘वास्तव में काफी दुखद’है.

पीटरसन ने ‘बेटवे’ पर लिखा, ‘डेनली के साथ जिस तरह का बर्ताव हुआ, खासकर टीम प्रबंधन द्वारा 100 गेंद खेलने के लिए कहा जाना काफी दुखद है.’

‘उनका ये हाल देखकर मैं हैरान हूं’

इंग्लैंड के लिए 47.28 की औसत से 8181 रन बनाने वाले पीटरसन ने कहा, ‘मैंने डेनली को बिग बैश (ऑस्ट्रेलिया की टी20 लीग) टूर्नामेंट में दो सत्र पहले देखा था. वह मैदान में आते ही बड़े शॉट खेलने लगता था. मेरी टीम मेलबर्न स्टार्स के खिलाड़ी उनका यह हाल देख कर आश्चर्यचकित हैं.’

उन्होंने कहा, ‘मैं इंग्लैंड के लिए भी उसके साथ खेला हूं. वह आक्रामक बल्लेबाज है और उसके पास हर तरह के शॉट हैं.’

पीटरसन ने कहा, ‘मैं चाहूंगा कि उसे खुल कर खेलने की छूट मिले. वह अच्छा प्रदर्शन नहीं करता है तो फिर टेस्ट टीम से उसकी छुट्टी करिए लेकिन 100 गेंद खेलने के लिए कहना और ऐसा नहीं करने पर टीम से बाहर करना दुर्भाग्यपूर्ण है.’